पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:आधे घंटे की बारिश खोल देती है नप की सफाई व्यवस्था की पोल, सड़क पर जमा दो फीट पानी

फारबिसगंज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बारिश के साथ मच्छरों की भरमार, एक फॉगिंग मशीन की किट खराब

फारबिसगंज के नगर परिषद के शहरी क्षेत्र में आधे घंटे की बारिश भी नगर परिषद प्रशासन के नाले की साफ-सफाई व्यवस्था की कलई स्वत: खुल जाती है। वहीं दूसरी तरफ उसमें पनपे मच्छरों से लोगों का जीना मुहाल हो जाता है। जिससे शहरी क्षेत्र के आमजनों को काफी परेशानियां के साथ तरह-तरह की बीमारियों से जूझना पड़ रहा है।

विषाक्त मच्छरों से मलेरिया, डेंगू आदि जैसे रोगों का प्रकोप लोगों के शरीर को जकड़ने की आशंका है। नप की फॉगिंग मशीन लोगों को मच्छरों से कुछ हद तक निजात दिला सकती है, लेकिन दुर्भाग्य एक गाड़ी वाली मशीन खराब तो दूसरी एक साल पूर्व खरीदी गयी 6 हैंड पम्प मशीन नप की शोभा बढ़ा रही है।

शहर के सदर रोड, पटेल चौक, छुआपट्टी, बाजार समिति, एसके रोड, स्टेशन चौक आदि स्थानों पर बारिश के पानी के साथ-साथ नालों का गंदा पानी का बहाव सड़कों के ऊपर से हो रहा है। जिस कारण राहगीरों का आवागमन करने में काफी परेशानी उठानी पड़ी।

इन क्षेत्रों में हो जाती है नारकीय स्थिति

सबसे ज्यादा नारकीय स्थिति छुआ पट्टी चौक, सदर रोड, मानिकचंद रोड की हो जाती है। दो से तीन फीट पानी सड़क पर बहने लगता है। इस रोड में नाला की स्थिति भी ठीक नहीं है। जिसके कारण जल निकासी होने में घंटों समय लग जाता है। मंगलवार की शाम हुई झमाझम बारिश शहर के सदर रोड, पटेल चौक, छुआपट्टी, बाजार समिति, एसके रोड आदि स्थानों है जलजमाव।

युद्धस्तर पर हो रहा नाला का निर्माण : मुख्य पार्षद
मुख्य पार्षद चंदा जायसवाल ने कहा कि युद्धस्तर पर नाले निर्माण किया जा रहा है और बहुत जगह हो गया है। उन्होंने कहा कि यह बारिश का पानी है बारिश रुकते ही स्वतः निकास हो जायेगा। वहीं नाले का जीरो लेबल से सफाई की गई है। शहर में बढ़ते हुए मच्छरों के प्रकोप देखते हुए मुख्य पार्षद ने कहा कि लगभग एक साल पूर्व हैंड पम्प मशीन जेएम के माध्यम से खरीदा गया था एवं फॉगिंग मशीन से छिड़काव का भी निर्णय लिया गया।

खबरें और भी हैं...