कोविड गाइडलाइन की धज्जियां:भाजपा विधायक मंचन केसरी के बेटे की शादी में उड़ी कोविड गाइडलाइन की धज्जियां, दर्ज होगी एफआईआर

फारबिसगंज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फारबिसगंज में 26 अप्रैल को हुई विधायक के बेटे की शादी में जुटे लोग, जिनकी संख्या सौ से अधिक थी। - Dainik Bhaskar
फारबिसगंज में 26 अप्रैल को हुई विधायक के बेटे की शादी में जुटे लोग, जिनकी संख्या सौ से अधिक थी।
  • विधायक के बेटे की शादी का वीडियो वायरल होने की खबर पटना पहुंची तो दिए जांच करने के निर्देश

सूबे के सत्ताधारी दल के फारबिसंगज के भाजपा विधायक विद्यासागर केसरी उर्फ मंचन केसरी के बेटे प्रेम केसरी की शादी में कोविड गाइडलाइन की खूब धज्जियां उड़ी। विधायक का दावा है कि उनके बेटे की शादी में लड़की पक्ष के केवल 26 लोग आए थे, लेकिन जो तस्वीर सामने आई है कि उससे ऐसा लगता नहीं। शादी में आम-खास सभी लोग शामिल हुए। जिस दिन यह शादी है, उस दिन के नियम के मुताबिक शादी समारोह में एक सौ से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते, लेकिन विवाह समारोह में इससे अधिक लोग आए। कई लोगों ने मास्क तक नहीं पहने थे।

कोविड गाइडलाइन के उल्लंघन का मामला वीडियो और फोटो वायरल होने के बाद सामने आया। ताज्जुब तो यह है कि इस भीड़ वाले शादी में स्थानीय सांसद सहित कई बड़े लोग भी शामिल हुए थे। कोविड गाइडलालन के उल्लंघन की खबर 27 अप्रैल की सुबह से ही सोशल साइट पर आग की तरह फैलने लगी। लोगों में इसी बात की चर्चा थी कि विधायक सूबे में सरकार होने का फायदा उठाया और उन्होंने नियम की अनदेखी की। खबर पटना तक पहुंची तो डीएम और एसपी तक को एक्शन लेना पड़ा। डीएम और एसपी के निर्देश पर फारबिसगंज एसडीओ सुरेंद्र कुमार अलबेला ने पूरे मामले की जांच के लिए टीम गठित किया है।

फारबिसगंज अपर एसडीओ के नेतृत्व में बनी जांच टीम

फारबिसगंज विधायक विद्यासागर केशरी उर्फ मंचन केशरी के पुत्र के शादी समारोह में कोविड गाइडलाइन उल्लंघन मामले को लेकर अनुमंडल प्रशासन ने दो सदस्यीय जांच कमेटी गठित किया है।

एसडीओ और एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने संयुक्त रूप से आदेश जारी कर अपर एसडीओ रणजीत कुमार सिंह और फारबिसगंज अंचल के इंस्पेक्टर बैजनाथ शर्मा को जांच कर रिपोर्ट समर्पित करने को कहा है।

हालांकि जांच कितने दिनों में करना है, इसका किसी तरह का कोई उल्लेख नहीं है। आदेश में सोशल मीडिया पर खबरें प्रसारित होने का जिक्र किया गया है।

मेरे ऊपर लगे आरोप पूरी तरह बेबुनियाद : विधायक

फारबिसगंज के विधायक विद्यासागर केशरी का कहना है कि उन्होंने पूरी तरह कोरोना गाइडलाइन का पालन किया है। शादी के उनके परिवार के ही अधिकांश सदस्य शामिल हुए। कुछेक गेस्ट ही बाहर आए थे। लड़की पक्ष से भी मात्र 26 लोग ही शादी में शामिल हुए। वही जो लोग बिना मास्क पहने आए, उन्हें मुख्य द्वार ही मास्क प्रदान कर पहनाया जा रहा था।

जो आरोप लगाया जा रहा है पूरी तरह से बेबुनियाद है एवं विपक्षियों के द्वारा मेरे छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने तो कोरोना को देखते हुए 28 अप्रैल को बेटे की शादी की पार्टी भी रद कर दिया है।

विधायक पर मामला दर्ज करने की कार्रवाई शुरू

इधर मामला तूल पकड़ने के बाद कोविड-19 नियम और गृह विभाग के निर्देशों के उल्लंघन करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई शुरू हो गई है। फारबिसगंज थाना अध्यक्ष निर्मल कुमार यादवेंद्र ने बताया कि आयोजक और संचालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज होगी। उन्होंने बताया कि हो सकता है कि विवाह समारोह के दौरान वर वधु ने भी नियमों का उल्लंघन किया है तो उनके विरूद्ध भी कार्रवाई हो सकती है। हालांकि देर शाम तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है।

खबरें और भी हैं...