आरोप:10वीं बोर्ड के रिजल्ट में अनियमितता को लेकर छात्रों ने जिले में शुरू किया हंगामा

फारबिसगंज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुर्सी तोड़ते छात्र। - Dainik Bhaskar
कुर्सी तोड़ते छात्र।
  • सरस्वती विद्या मंदिर प्रबंधन पर पैसे लेकर विद्यालय ने रिजल्ट में की हेराफेरी
  • कमजोर बच्चों को ज्यादा अंक एवं बेहतर छात्र को कम अंक देकर भविष्य के साथ किया खिलवाड़

सीबीएसई दसवीं बोर्ड के रिजल्ट में अनियमितता की शिकायत को लेकर जहां पूरे देश के छात्रों में आक्रोश देखा जा रहा है वहीं फारबिसगंज शहर भी इससे अछूता नहीं है। शहर के हवाई फील्ड स्थित रानी सरस्वती विद्या मंदिर परिसर में भी विद्यालय के छात्रों ने रिजल्ट में नाराजगी जाहिर करते हुए जमकर हंगामा किया। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे छात्रों एवं विद्यालय प्रबंधन में में नोकझोंक भी हुई। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने विद्यालय प्रबंधन के द्वारा मोबाइल छीनने का भी आरोप लगाया है। हंगामा कर रहे छात्रों में कृष्णा कुमार, रिशु कुमार, नितिन दत्ता, अंकित सिंह, राजा कुमार, कुणाल सिंह, शुभम वर्मा, शुभम साह, आनंद मंडल, देवाशीष कुमार, सौरभ कुमार, सत्यम सिंह राजपूत, अंशुमन कुमार, प्रशांत कुमार, ऋषभ रंजन, गौरव कुमार आदि ने कहा कि विद्यालय प्रशासन के द्वारा दसवीं व 12 वीं सीबीएसई की रिजल्ट में भारी गड़बड़ी व अनियमितता की गई है। छात्रों ने आरोप लगाते हुए कहा कि विद्यालय प्रबंधन के द्वारा पैसे के लेनदेन के साथ-सथ प्रभाव के कारण कई छात्रों का रिजल्ट घोषित किया गया है जिसमें कमजोर बच्चों को ज्यादा अंक एवं बेहतर छात्र को कम अंक देकर होनहार छात्रों के भविष्य के साथ विद्यालय प्रशासन ने खिलवाड़ किया है।

रिजल्ट में गड़बड़ी की शिकायत पर प्राचार्य ही बुलाए थे स्कूल
छात्रों ने कहा रिजल्ट में गड़बड़ी की शिकायत विद्यालय प्रबंधन से की गई तो प्राचार्य ने बुलाया था लेकिन किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं हुई। छात्रों के द्वारा वीडियो बनाया जा रहा था तो विद्यालय प्रबंधन ने मोबाइल छीन लिया गया है। दो दिन पहले स्कोटिश पब्लिक स्कूल के शिक्षक सुशांत कुमार द्वारा अच्छे नंबर देने के एवज में रुपए मांगने ऑडियों वायल हुआ था।

तोड़फोड़ करते छात्र
तोड़फोड़ करते छात्र

अनियमितता संबंधी शिकायत की होगी जांच
मामले में पूछे जाने पर विद्या मंदिर के प्राचार्य आशुतोष कुमार मिश्र ने कहा कि सीबीएसई दसवीं की परीक्षा में कुछ छात्रों ने अनियमितता की बात कही है। जिसकी जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि कुछ बाहरी छात्र विद्यालय में हंगामा कर रहे थे। उनका मोबाइल छीना गया है।

सीबीएसई की गलत नीतियों से बच्चों का 10वीं एवं 12वीं का परिणाम असंतोषजनक रहा: सिबतैन अहमद

अररिया | सीबीएसई 10वीं व 12वीं का जो रिजल्ट 2020 में आया था उसके आलोक में 2021 में परिणाम छात्रों के अनुसार संतोषजनक नहीं है। ये बातें अररिया प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष सिबतैन अहमद ने कही। उन्होंने कहा कि विभिन्न सोशल मीडिया के माध्यम एवं हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष से यह खबर मिल रही है कि
इसकी सारी गलतियां विद्यालयों पर थोपी जा रही है, पर विद्यालयों पर सीबीएसई द्वारा तय किए गए मापदंडों के अनुसार ही अंक प्रदान करने का दबाव था। एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष सिबतैन अहमद ने कहा कि इस कारण कई विद्यालयों के संचालकों के ऊपर बच्चों एवं अभिभावकों द्वारा दुर्व्यवहार किया जा रहा है, जिसका एसोसिएशन निंदा करती है और अभिभावकों से आग्रह करती है कि विद्यालय परिवार को सहयोग करें। राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने सीबीएसई के चेयरमेन से आग्रह किया है कि जल्द से जल्द 10वीं एवं 12वीं के बच्चों को 85% से ऊपर मार्क्स देकर बच्चों को मानसिक बीमार होने से बचाएं।

खबरें और भी हैं...