मांग:ग्रामीण चिकित्सकों को प्राथमिक उप स्वास्थ्य केद्रों में बहाल करने की मांग

गोगरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीण चिकित्सक संघ की बैठक में अतिथि का स्वागत करते संघ के जिलाध्यक्ष। - Dainik Bhaskar
ग्रामीण चिकित्सक संघ की बैठक में अतिथि का स्वागत करते संघ के जिलाध्यक्ष।
  • महेशखूंट के समसपुर में ग्रामीण चिकित्सा सेवा समन्वय समिति की बैठक

गोगरी ग्रामीण चिकित्सा सेवा समन्वय समिति के बैनर तले गोगरी प्रखंड के समसपुर स्थित आरपीएस ग्लोबल पब्लिक स्कूल में प्रखंड स्तरीय बैठक आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता संघ के प्रखंड अध्यक्ष डॉ. अमित कुमार ने किया। इस बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में संघ के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. सुधीर पासवान, विशिष्ट अतिथि के रूप में निरामया हॉस्पिटल बेगूसराय के डॉ. रविशंकर प्रसाद, संघ के जिलाध्यक्ष डॉ. मंकेश कुमार, परबत्ता के प्रखंड अध्यक्ष डॉ. मदनमोहन शर्मा, नगर अध्यक्ष डॉ. मनोज कुमार पासवान मौजूद थे। बैठक में सभी वक्ताओं ने कहा कि ग्रामीण चिकित्सकों ने इस कोरोना जैसी महामारी में अपनी जान की परवाह किए बिना गांव देहात में गरीब नि:सहाय तबके के रोगियों का इलाज करने से कभी भी पीछे नहीं हटे। एक दूसरे के लोगों की जान बचाने में अपनी सक्रिय भूमिका निभाए। उक्त वक्ताओं ने अपने-अपने संबोधन के माध्यम से राज्य सरकार से एनआईओएस से प्रशिक्षित ग्रामीण चिकित्सकों को ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक उपचार के लिए​​​​​​​ प्राथमिक उप स्वास्थ्य केद्रों में बहाल किए जाने का मांग की, ग्रामीण चिकित्सकों ने कहा कि दूसरे बैच के ग्रामीण चिकित्सकों का प्रशिक्षण इस कोरोना जैसी महामारी के कारण बंद हो गया है, उसे पुनः चालू किया जाय। जिससे कि समय पर परीक्षा हो सके और तीसरे बैच का रजिस्ट्रेशन समय पर चालू किया जा सके। उक्त बैठक में ग्रामीण चिकित्सक डॉ. रंजित कुमार साह, डॉ. पंकज कुमार शर्मा, डॉ. बिपीन कुमार, डॉ. बुटीलाल तांती, डॉ. रंजित कुमार, डॉ. रंजित यादव, पंकज कुमार, शंभू यादव, मुकेश यादव, संजय कुमार, दीपक कुमार सक्सेना, रंजीत कुमार पटेल, दिलीप कुमार महतों, गणेश पंडित, सिकंदर खान आदि सहित अन्य ग्रामीण चिकित्सक मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...