लोक आस्था का महापर्व कल से शुरू:लोकआस्था का महापर्व छठ नहाय खाय के साथ कल से होगा शुरू

हसनगंज24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बमकाली छठ घाट में जलकुंभी व पसरा जंगल। - Dainik Bhaskar
बमकाली छठ घाट में जलकुंभी व पसरा जंगल।
  • घाटों की नहीं हुई साफ-सफाई, प्रशासन से घाट की सफाई कराने की मांग

लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व सोमवार से नहाय खाय के साथ शुरू हो जाएगा। छठी मइया के लोकगीतों से सारा क्षेत्र का माहौल भक्तिमय बना हुआ है। इसके बावजूद प्रखंड क्षेत्र स्थित छठ घाटों की बदतर स्थिति क्षेत्र वासियों को मुह चिढ़ा रहा है। बता दें कि प्रखंड क्षेत्र स्थित कमला नदी, चांपी घाट, भसना व राजवाड़ा पंचायत के रटवा नदी, पलटनिया नदी, बमकाली छठ घाट आदि अन्य नदियों में काफी संख्या में लोग लोक आस्था का महापर्व छठ का व्रत कर सूर्य देव को अर्घ्य अर्पण करते है। इसके वाबजूद सरकारी व प्रशासनिक स्तर से ऐसे छठ घाटों की साफ सफाई नही होने से व्रतियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न छठ घाटों की साफ सफाई राम जनसेवा समिति व व्रतियों के परिजनो द्वारा निजी स्तर पर कर किसी तरह महापर्व का समापन किया जाता है।
घाटों की सफाई और रोशनी की व्यवस्था हो
इस संदर्भ में पैक्स अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ पप्पू राय,राम जनसेवा समिति के सचिव प्रशांत झा आदि ग्रामीणों ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रो के विभिन्न नदियों में काफी संख्या में श्रद्धालु लोक आस्था का महापर्व छठ का त्योहार करते हैं। लेकिन आज तक सरकारी स्तर से ऐसे छठ घाटों का साफ-सफाई व रोशनी की व्यवस्था नही की जाती है। स्थानीय लोगों ने बताया की ग्रामीण क्षेत्रों में भी सरकारी स्तर से छठ घाटों की साफ सफाई व रोशनी की व्यवस्था होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...