विरोध प्रदर्शन:बीसीएम पर कार्रवाई की मांग को लकर साढ़े 3 घंटे वैक्सीनेशन वार्ड के बाहर धरने पर बैठीं एएनएम

जमुई20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीसीएम का पुतला दहन करती एएनएम और इनसेट विरोध प्रदर्शन करती एएनएम। - Dainik Bhaskar
बीसीएम का पुतला दहन करती एएनएम और इनसेट विरोध प्रदर्शन करती एएनएम।
  • बीसीएम पर कार्रवाई की मांग को ले गुस्साई एएनएमने 23 पंचायत में वैक्सीनेशन किया बाधित
  • सिविल सर्जन ने ई-मेल कर पीएचसी प्रभारी को कार्रवाई का दिया निर्देश

एएनएम के साथ मारपीट और अभर्द्र व्यवहार से नाजार चकई प्रखंड सभी एएनएम ने शुक्रवार को मेगा वैक्सीनेशन कार्य का बहिष्कार किया और आरोपी बीसीएम पर कार्रवाई की मांग को लेकर चकई रेफरल अस्पताल के वैक्सीनेशन वार्ड के बाहर धरना दिया। बीसीएम की हरकात से आक्राेशित एएनएम वैक्सीनेशन वार्ड के बाहर करीब साढ़े 3 घंटे तक धरने पर बैठी रहीं। और आरेापी बीसीएम के चकई रेफरल अस्पताल से विरमित होने के बाद ही धरने से उठीं। इस दौरान एएनएम ने बीसीएम के खिलाफ नारेबाजी की और उनका पूतला भी जलाया। गुस्साए एएनएम ने कार्रवाई की मांग को लेकर चकई प्रखंड के 23 पंचायत में मेगा वैक्सीनेशन कैंप बाधित रखा।अस्पताल मैनेजर उपेंद्र चौधरी ने बताया कि एएनएम को काफी समझाया गया लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुई। वरीय पदाधिकारी को सूचित कर दिया गया है कि वैक्सीनेशन का कार्य प्रभावित है। वरीय पदाधिकारी के आने के बाद ही आगे कुछ हो पाएगा।

बीसीएम को विरमित करने के बाद भी काम पर नहीं लौट रहीं थीं एएनएम
इधर मामले की जांच के लिए दूसरे दिन भी बीडीओ दुर्गा शंकर प्रसाद, एसीएमओ रमेश प्रसाद चकाई रेफरल अस्पताल पहुंचे और एएनएम को समझाया कि कार्रवाई की जा रही है। बोर्ड के द्वारा जांच कर दोषी पर कार्रवाई की जाएगी। लेकिन एएनएम सिविल सर्जन या डीपीएम के आने की मांग पर अड़ी रहीं। वहीं सिविल सर्जन ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चकाई के प्रभारी को ई-मेल कर कार्रवाई करने का आदेश दिया। जिसके बाद आरोपी बीसीएम सुनील प्रसाद को सिविल सर्जन के मेल के आदेश पर चकाई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से जिला स्वास्थ्य समिति जमुई के लिए विरमित कर दिया गया है। हालांकि विरमित किए जाने के बाद भी एएनएम काम पर नहीं लौट रही थी और पदाधिकारी उसे कार्रवाई का आश्वासन देकर समझाते दिखे। काफी समझाने के बाद वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हुआ, लेट से वैक्सीनेशन का कार्य शुरू होने के कारण मेगा ड्राइव प्रभावित हुआ।

बीसीएम पर बड़ी मशक्कत के बाद पाया गया था काबू
बड़ी मशक्कत के बाद बीसीएम को पकड़ कर एएनएम को बचाया गया था। शुक्रवार को इस मामले ने तुल पकड़ा और बीसीएम पर कार्रवाई की मांग करते हुए लगभग 3घंटे 30 मिनट तक वैक्सीनेशन का मेगा ड्राइव प्रभावित कर दिया। रेफरल अस्पताल चकाई के बीसीएम सुनील प्रसाद गुरुवार की सुबह कोविड-19 वैक्सीनेशन ड्यूटी में कार्यरत एएनएम अंबालिका कुमारी के साथ मारपीट व गाली-गलौज की थी, जिसका एएनएम लगातार विरोध कर रही हैं। रेफरल अस्पताल चकाई में कार्यरत एएनएम मीरा कुमारी, खुशबू गुप्ता, देवरानी कुमारी, स्नेहलता हांसदा आदि ने कहा कि बीसीएम का व्यवहार उचित नहीं है। उनकी नजर गंदी है। महिला कर्मी के साथ मारपीट के मामले से हमसब डरे हुए हैं। उनका कोई भरोसा नहीं बीसीएम धमकी देते हैं कि काम करते वक्त उठवा लेंगे। ऐसे में जबतक बीसीएम को बर्खास्त नहीं किया जाता है तब तक काम नहीं करेंगे अौर न ही काम करने देंगे।

खबरें और भी हैं...