दबंगई:बैनर टांग गांव में एक जाति विशेष के प्रवेश पर लगाई रोक, अंजाम भुगतने की चेतावनी

जमुई/ झाझा25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छुछनरिया गांव के पास ग्रामीणों के प्रवेश पर रोक लगाने का टंगा बैनर। - Dainik Bhaskar
छुछनरिया गांव के पास ग्रामीणों के प्रवेश पर रोक लगाने का टंगा बैनर।
  • झाझा के छुछनरिया गांव के समीप सफेद रंग के कपड़े में लिखा गांव में प्रवेश नहीं करने का फरमान

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर सातवें चरण में 15 नवंबर को झाझा प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में चुनाव होना है। बाराजोर पंचायत में कुछ लोगों ने एक बैनर टांग कर एक जाति विशेष के लोगों के चुनाव में हिस्सा लेने से गांव में उसके प्रवेश पर ही रोक लगा दी है। हालांकि बैनर टांगने वाले का अबतक पता नहीं चला है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। बता दें कि छुछनरिया गांव में मंडल जाति के मुखिया उम्मीदवार एवं उनके समर्थकों को गांव में प्रवेश करने पर रोक लगाने का एक बैनर गांव के मुख्य सड़क पर टांग दिया गया है। उसमें साफ तौर पर लिखा गया है कि मंडल जाति के मुखिया उम्मीदवार एवं उसके कार्यकर्ता गांव में प्रवेश तथा प्रचार-प्रसार नहीं करेंगे। शनिवार की सुबह लोगों ने जब मोड़ के पास बैनर देखा तो लोगों के बीच हो हल्ला हुआ जिसके बाद बैनर को देखने के लिए आसपास के ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया। बैनर में लिखा था कि अनवर, राजीव, फारूक, फैयाज और हरि रजक को छोड़कर बाकि मंडल जाति के मुखिया उम्मीदवार को गांव में प्रवेश और प्रचार करने पर प्रतिबंध रहेगा। ग्रामीणों ने बताया कि सुबह ही कुछ लोगों ने बैनर को खोल लिया और उसे अपने साथ ले गए। असामाजिक तत्वों ने बैनर में साफ तौर पर यह लिखा कि यदि कोई इस फरमान की अवहेलना करेगा तो जीतने या हराने के बाद भी नहीं छोड़ा जाएगा। बता दें कि बाराजोर पंचायत से मंडल जाति के कई उम्मीदवार पंचायत चुनाव में खड़े हैं। इनमें प्रमीला देवी, जयंती देवी, केवाली देवी, आशा देवी, बबीता देवी, ललमुनिया देवी, शांति देवी, रिंकी भारती मुखिया के उम्मीदवार हैं।

खबरें और भी हैं...