चिंताजनक / मंजोस गांव में मछली पकड़ने उमड़ी ग्रामीणों की भीड़, सोशल डिस्टेंस की उड़ी धज्जियां

Crowds of villagers throng fishing in Manjos village, social distance flees
X
Crowds of villagers throng fishing in Manjos village, social distance flees

  • मुखिया के घर से महज 300 मीटर की दूरी पर है तालाब, पंचायत प्रतिनिधि भी रहे मौन

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

जमुई. जिले में लगातार लॉकडाउन की अवहेलना कर लोग बाहर निकल रहे हैं। इतना ही नहीं सोशल डिस्टेंस जैसे नियमों की भी खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। जिम्मेवार भी इन सबको देख अपनी आंखें फेर रहे हैं, ऐसे में कोरोना जैसे महामारी और उसके बढ़ते संक्रमण को हम कैसे खत्म करेंगे। ऐसी ही लापरवाही शनिवार को सिकंदरा प्रखंड के मंजोस गांव में देखने को मिली।

गांव के लोगाें का हुजूम गांव स्थित रामसागर तालाब में मछली पकड़ने के लिए उमड़ पड़ी। तालाब में सैकड़ों लोग प्रवेश कर गए और मछली पकड़ने में लीन हो गए। उन्हें न तो सोशल डिस्टेंस का ख्याल रहा और न ही कोरोना जैसे संक्रमित महामारी का भय। इतना ही नहीं इस दौरान दर्जनों ग्रामीण भी तालाब के पास एक पेड़ के नीचे बैठकर लोगों द्वारा मछली पकड़े जाने का आनंद उठाते दिखे। नजारा ऐसा था मानो कोरोना जैसी महामारी का इन्हें पता ही नहीं। 
बड़ी बात यह है कि पंचायत स्तर पर लॉकडाउन का पालन कराने और सोशल डिस्टेंस बनाकर रखने के लिए पंचायत प्रतिनिधियों को भी जिम्मेवारी दी गई है। लेकिन यहां पंचायत प्रतिनिधि अपनी आंखें बंद कर सबकुछ होने दे रहे थे। जिस तालाब में मछली पकड़ने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा थी, वहां से महज 300 मीटर की दूरी पर पंचायत की सरपंच प्रियंका चंदेल का घर है। वे ग्रामीणों को ऐसा करने से रोकना मुनासिब नहीं समझी और न ही वरीय अधिकारियों को तालाब में लगी भीड़ की सूचना देना ही मुनासिब समझी। इतना ही नहीं गांव के पूर्व सरपंच मछली पकड़ने वालों को देखने के लिए जो भीड़ लगी थी, उस भीड़ का हिस्सा बने थे।
कर्मियों को उचित राशि देने की मांग
परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अभिषेक राव ने क्वारेंटाइन सेंटरों पर ड्यूटी कर रहे कर्मियों को अल्पाहार और भोजन के लिए उचित राशि देने की मांग करते हुए इस संबंध में जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने बताया कि शिक्षकों को बिना किसी सुरक्षा किट या इंश्योरेंस के ड्यूटी में लगाया गया है। जिलाध्यक्ष ने डीएम के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री को पूर्व में ही आवेदन दिया गया है।
पटना से आगे जाने वाले यात्रियों को नहीं मिल रहा टिकट, बढ़ी परेशानी
एक तरफ देश में 1 जून से ट्रेन चलने की घोषणा की गई है। इसको लेकर रेल टिकट आरक्षण काउंटर भी रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार से खुल चुका है। परंतु पटना हावड़ा मुख्य रेलखंड पर चलने वाली ट्रेनों में यात्रा करने के लिये लोगो को लंबा इंतजार भी करना होगा,  कारण यह है कि ट्रेन में  टिकट कन्फर्म नहीं हो रहा है। शनिवार को झाझा स्टेशन के टिकट काउंटर से 11 टिकट बुक हुए, जिसमें अधिकांश टिकट पटना से हावड़ा जाने वाली ट्रेन जन शताब्दी एक्सप्रेस की थी।

लोग चाह कर भी पटना से आगे के स्टेशन की यात्रा नहीं कर पायेंगे। विभाग के द्वारा मिली जानकारी अनुसार हावड़ा नई दिल्ली में 22 जून से पहले टिकट वेटिंग में बताया जा रहा है, यानी जो भी यात्री झाझा, जमुई, कियूल सहित अगले स्टेशन से पूर्वा एक्सप्रेस से पटना से आगे जाने की इच्छा रख रहे हैं। उनका टिकट वेटिंग रहेगा। वहीं शनिवार को झाझा से कानपुर जाने के लिये जानकारी लेने के लिए जब एक यात्री पहुंचा तो 22 जून से पहले टिकट कन्फर्म नहीं होने की बात बताई गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना