पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मृत्यु पर गम बांटिए:मानसिक और आर्थिक रूप से तोड़ देता मृत्यु भोज

जमुई10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुद्धिजीवियों ने अभियान को सराहा, बोले-मृत्यु भोज समाज के लिए ठीक नहीं

मृत्यु भोज एक ऐसी सामाजिक कुरीति है, जो पीड़ित परिवार को मानसिक और आर्थिक रूप से तोड़ देता है। लोग अपने परिजनों के खोने का गम और मृत्यु भोज में मोटी रकम की खर्च के बाद उसके कर्ज से उबर नहीं पाते हैं।     संपन्न वर्ग प्रतिष्ठा को जोगने के लिहाज से मृत्यु भोज कर कई गांव के लोगों को आमंत्रित करते हैं। लेकिन दूसरी तरफ आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति के घर अगर कमाऊ सदस्य की भी मौत हो जाए, तो मृत्यु भोज का करना उनके लिए अभिशाप बन जाता है। पिछले एक सप्ताह से भास्कर की चलाई गई मुहिम को कई लोगों ने सराहा है।    सभी ने वाट्सएप पर मैसेज और अपने कमेंट्स लिखकर इस सामाजिक कुरीति को जड़ से खत्म करने के लिए आगे आने की बात कही है।

कुरीति को समाप्त करने के लिए मुहिम में हो शामिल
गिद्धौर के संजीत कुमार शर्मा ने कहा कि इस कुरीति को समाप्त करने के लिए भास्कर के अभियान में लोगों को शामिल होना चाहिए। वहीं, मो. हैदर ने भी इसे समाप्त करने के लिए हर समाज के लोगों से अपील की है। उन्होंने कहा है कि इस कुरीति में लोग प्रताड़ित हो रहे हैं। भास्कर के मुहिम का रंजीत शर्मा ने भी समर्थन किया है। वहीं झाझा के डॉ. सुरेश, शैलेश माथुरी, पवन कुमार सुल्तानियां, जमुई के विनोद कुमार सिन्हा, गिद्धौर के मनीष कुमार, जमुई के अमित कुमार ने सराहना करते हुए समाज को भागीदारी निभाने की अपील की।    

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें