पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:रोक के बावजूद नहीं मान रहे श्रद्धालु, शुक्रवार को भी बाबा झुमराज मंदिर में बलि

जमुई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंदिर के पीछे से पहुंचे श्रद्धालुओं को हटाते सीओ अनिल कुमार चौबे। - Dainik Bhaskar
मंदिर के पीछे से पहुंचे श्रद्धालुओं को हटाते सीओ अनिल कुमार चौबे।
  • पूजा में समिति सदस्यों व पुजारियों के बलि पूजा के लिए अवैध उगाही की भी बात सामने आ रही है इसलिए कोरोना प्रतिबंध को नहीं मान रहे

प्रशासन के रोक के बावजूद बाबा झुमराज मंदिर में बलि और पूजा के लिए लगातार श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु बाबा झुमराज मंदिर पहुंच गए। प्रशासन की पूजा पर प्रतिबंध लगाने की सख्त हिदायत थी। बावजूद इसके दूसरे रास्ते से श्रद्धालु मंदिर के पीछे पहुंचे और मंदिर से कुछ दूरी पर पुजारियों के सहयोग से बलि पूजा का आयोजन हुआ। बलि पूजा के बाद श्रद्धालु मंदिर से दूर जाकर प्रसाद बनाकर खाया। कोरोना के संक्रमण काल में श्रद्धालुओं की लापरवाही बढ़ती ही जा रही है।

शुक्रवार को भी बाबा झुमराज मंदिर में कोरोना गाइड लाइन की धज्जियां उड़ी। तकरीबन एक हजार के आसपास बकरे की बलि दी गई। बाबा झुमराज के प्रति आस्था तो ठीक है लेकिन श्रद्धालुओं की यह लापरवाही कहीं से भी उचित नहीं है। प्रशासन भी श्रद्धालुओं की भीड़ के सामने बेबस दिख रही है। हालांकि भीड़ की सूचना पर सीओ अनिल कुमार चौबे, एएसआई एसएन सिंह पुलिस जवानों के साथ बाबा झुमराज मंदिर पहुंचे। श्रद्धालुओं को खदेड़कर मंदिर खाली करवाया।

प्रशासन ने धार्मिक न्यास परिषद पटना के अधीन संचालित इस मंदिर के समिति सदस्यों व पुजारियों को सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को आयोजित होने वाली बलि और पूजा पर प्रतिबंध लगाने का सख्त निर्देश दिया था, बावजूद इसके पुजारी व समिति सदस्य मान नहीं रहे हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनकी मिलीभगत से ही यहां पूजा का आयोजन हो रहा है। पूजा में समिति सदस्यों व पुजारियों द्वारा बलि पूजा के लिए अवैध उगाही की भी बात सामने आ रही है।

बुधवार को भी मंदिर में प्रशासन ने की थी सख्ती
बीते सोमवार को बलि पूजा के लिए उमड़ी भीड़ की खबर प्रकाशित होने के बाद बुधवार को प्रशासन बाबा झुमराज मंदिर में पूरी तरह मुस्तैद थी। श्रद्धालुओं को खदेड़कर मंदिर खाली करवाया था। मंदिर परिसर में बलि पूजा का आयोजन नहीं हुआ था। सीओ अनिल कुमार चौबे, थानाध्यक्ष अब्दुल हलीम ने मंदिर समिति सदस्यों, पुजारियों के साथ बैठक कर पूजा पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश देते हुए प्रशासन को सहयोग करने की को कहा। माइकिंग कर लोगों से अपील भी की गई, लेकिन इनसब का कोई असर नहीं हुआ। शुक्रवार को पुनः मंदिर में श्रद्धालु पहुंच गए और पूजा का आयोजन हुआ।

पूजा में संलिप्त पुजारियों दुकानदारों व समिति सदस्यों पर होगी कार्रवाई
मंदिर में बलि और पूजा पर पूरी तरह रोक है। मंदिर से कुछ दूरी पर बलि पूजा का आयोजन हो रहा है। बलि पूजा में शामिल पुजारियों, समिति सदस्यों, दुकानदारों व स्थानीय लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। उन पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
अनिल कुमार चौबे, सीओ, सोनो

खबरें और भी हैं...