पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनियमितता:एनएच-333 में निर्माणाधीन पुल का डायवर्सन बह गया, इंजीनियर को इसकी खबर तक नहीं

जमुई/ लक्ष्मीपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवार की शाम बारिश के बाद एनएच-333 पर क्षतिग्रस्त डायवर्सन और संपर्क भंग होने से खड़ा ट्रक। - Dainik Bhaskar
सोमवार की शाम बारिश के बाद एनएच-333 पर क्षतिग्रस्त डायवर्सन और संपर्क भंग होने से खड़ा ट्रक।
  • मई माह की पहली बारिश ने निर्माण एजेंसी की खोली पोल
  • परेशानी: 15 घंटे से जमुई-मुंगेर का आवागमन ठप, सड़क के दोनों ओर लगा रहा जाम

मई माह की पहली बारिश ही आफत बन गई। सोमवार की शाम आई तेज आंधी व बारिश के कारण जमुई-मुंगेर एनएच-333 स्थित कोहवरवा मोड़ के पास बना डायवर्सन बह गया। पुल निर्माण कराने के लिए मार्ग अवरुद्ध किया गया था और वाहनों के परिचालन के लिए डायवर्सन बनाया गया था जिससे वाहनों का परिचालन किया जा रहा था। जमुई से मुंगेर, खड़गपुर, भागलपुर आदि जगहों पर जाने वाले वाहन इसी डायवर्सन से होकर पिछले छह महीने से गुजर रहे थे। एनएच-333 जमुई से मुंगेर का आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया। दोनों ओर बड़े वाहनों की लंबी कतार लग गई। जाम की सूचना पर स्थानीय पुलिस जाम स्थल पर पहुंची लेकिन काफी मशक्कत के बाद भी उक्त डायवर्सन को सही नहीं किया जा सका था और वाहनों का परिचालन दूसरे दिन भी नहीं शुरू हो सका। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस एनएच पर पिछले 15 घंटे से आवागमन बाधित है उसके इंजीनियर को डायवर्सन टूटने की खबर तक नहीं है। जमुई-मुंगेर एनएच-333 में यात्रियों व वाहनों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए उसके मरम्मतीकरण व पुराने पुल पुलिया के चौड़ीकरण का कार्य किया जा रहा है। निर्माण कार्य में शामिल कार्य एजेंसी द्वारा शुरू से ही लापरवाही बरती जा रही है। पुल निर्माण के लिए जो डायवर्सन एक ही बारिश में टूटा उसके निर्माण को लेकर शुरू से ही स्थानीय लोगों द्वारा सवाल उठाया जाता रहा है। अगर स्थानीय लोगों के सुझाव पर निर्माण कार्य में लगी एजेंसी गंभीरता दिखाई होती तो आज ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती और सैकड़ों यात्रियों को इस तरह की समस्या का सामना नहीं करना होता।

रात भर जाम मे फंसे रहे वाहन चालक, परेशानी
डायवर्सन टूटने से सैकड़ों वाहन रात भर जाम मे फंसे रहे। हालांकि वाहन पर सवार यात्री पैदल या किसी अन्य माध्यम से वाहन छोड़कर अपने-अपने घर देर शाम होने के कारण चले गए। छोटे-छोटे वाहनों ने तो अपना रास्ता बदल कर ग्रामीण पथों का सहारा लिया और काफी मशक्कत से किसी तरह अपने गंतव्य की ओर निकल गए। लेकिन बड़े वाहनों के पास दूसरा कोई विकल्प नहीं था और वे जाम में फंसे रहे। जाम स्थल का मुख्य बाजार से एक किमी से अधिक दूर होने के कारण बड़े वाहनों के चालक व सह चालक रात भर भूखे प्यासे भटकते रहे और एनएच प्रशासन को कोसते रहे।

3.75 करोड़ रुपए से हो रहा है पुल का निर्माण कई बार अनियमितता की हुई है शिकायत
जमुई-मुंगेर एनएच-333 स्थित लक्ष्मीपुर से मलयपुर के बीच कोहवरवा मोड़ व केनुहट स्थित शिवदानी बाबा के पास पुराने पुल को तोड़कर नए पुल का निर्माण कराया जा रहा है। उक्त कार्य की जिम्मेदारी एनएच प्रशासन ने पटना की दयाल हाइटेक कंपनी को दी। पुल के निर्माण पर लगभग 3.75 करोड रुपए खर्च किए जा रहे हैं। उक्त दोनों पुल के निर्माण के लिए डायवर्सन बनाया गया। लेकिन डायवर्सन से गुजरने वाले राहगीरों की सुविधा का ख्याल संबंधित निर्माण एजेंसी द्वारा नहीं रखा जा रहा था। डायवर्सन से धुल उड़ती थी और लोग परेशान होते रहे। निर्माण एजेंसी द्वारा डायवर्सन से धुल न उड़े इसको लेकर दिन भर में एक बार भी पानी का छिड़काव नहीं किया जाता था। इस बात की शिकायत स्थानीय लोगों द्वारा कई बार निर्माण एजेंसी के प्रोजेक्ट मैनेजर से लेकर एन-एच के जेई अनिल कुमार से की गई लेकिन न तो निर्माण एजेंसी के अधिकारियों ने इसको लेकर सजगता दिखाई और न ही एनएच प्रशासन ने।

डायवर्सन टूटने की कोई जानकारी नहीं
मुझे डायवर्सन टूटने की न तो कोई जानकारी है और न ही इस कारण सड़क जाम की। इस संबंध में तुरंत प्रोजेक्ट इंजीनियर से बात कर डायवर्सन मरम्मती के अद्यतन स्थिति की जानकारी ली जाएगी और उसकी मरम्मती कराकर आवागमन चालू किया जाएगा।
अनिल कुमार सिंह, जेई, एन एच 333

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें