पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समीक्षा:नक्सलग्रस्त गांवों में सभी योजनाओं को धरातल पर उतारें डीएम: अशाेक चौधरी

जमुई4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मंगलवार को आपदा की बैठक में भाग लेते प्रभारी मंत्री, विधायक व पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
मंगलवार को आपदा की बैठक में भाग लेते प्रभारी मंत्री, विधायक व पदाधिकारी।
  • बैठक में प्रभारी मंत्री ने कहा-जमुई में नहीं है सुखाड़ के हालात

मुख्यमंत्री के निर्देश पर बाढ़ व सुखाड़ के हालात की समीक्षा करने मंगलवार को सूबे के भवन निर्माण मंत्री सह जिला प्रभारी मंत्री अशोक चौधरी जमुई पहुंचे। समाहरणालय स्थित संवाद कक्ष में प्रभारी मंत्री ने जिले के सभी चार विधायक व विभागीय पदाधिकारियों के साथ सुखाड़ के हालात व विकास योजनाओं के स्थिति की व्यापक समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में विभागीय पदाधिकारियाें द्वारा प्रस्तुत अधूरे प्रतिवेदन पर प्रभारी मंत्री ने नाराजगी जताई। साथ ही निर्देश दिया कि अगली बैठक में योजनाओं की अद्यतन रिपोर्ट के साथ प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। प्रभारी मंत्री ने समीक्षा के दौरान कहा कि जमुई में सुखाड़ जैसी स्थिति अभी उत्पन्न नहीं हुई है। अगस्त महीने में कम वर्षापात के बावजूद धान की फसल ठीक है। साथ ही मंत्री ने कहा कि जमुई में यूरिया की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है। उन्होंने जनवितरण प्रणाली का दुरूस्त करने का निर्देश दिया। प्रभारी मंत्री ने कहा कि कई जनप्रतिनिधियों द्वारा जनवितरण प्रणाली में गड़बड़ी की शिकायत की गई है।

बैठक में कृषि, स्वास्थ्य, सामजिक सुरक्षा शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा की
बैठक में कृषि, स्वास्थ्य, सामजिक सुरक्षा कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, आपूर्ति, सिंचाई, सहकारिता, शिक्षा, ग्रामीण कार्य विभाग एवं जीविका के कार्यों की समीक्षा की गई। प्रभारी मंत्री ने डीएम को निर्देश दिया कि जिले के 100 नक्सल प्रभावित गांवों को चिह्नित कर वहां सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं को धरातल पर उतारें। बैठक में चकाई विधायक सह मंत्री सुमित कुमार सिंह, झाझा विधायक दामोदर रावत, जमुई विधायक श्रेयसी सिंह, सिकंदरा विधायक प्रफुल्ल मांझी के अलावा डीएम अवनीश कुमार सिंह, एसपी पीके मंडल, डीडीसी आरिफ अहसन सहित सभी संबंधित विभाग के जिलास्तरीय पदाधिकारी मौजूद थे।

समय पर योजनाओं को पूरा कराएं तकनीकी विभाग के पदाधिकारी
मंत्री ने तकनीकी विभाग के पदाधिकारियों को दो टूक शब्दों में कहा कि वे ससमय योजनाओं को पूर्ण करें। बैठक में साइंस एंड टेक्नोलॉजी मंत्री सह चकाई के विधायक सुमित कुमार सिंह ने चकाई के स्वास्थ्यकेंद्रों में एएनएम की कमी का सवाल उठाया। वहीं जमुई विधायक श्रेयसी सिंह ने जिले में बारिश से मूंग की फसल को पहुंची क्षति से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराने को कहा, लेकिन कृषि विभाग ने मूंग की फसल के क्षति का कोई आंकलन कराने अथवा रिपोर्ट देने में असमर्थता जताई।

खबरें और भी हैं...