पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सेहत की बात:खुशखबरी: इसी माह के अंतिम सप्ताह तक जमुई व लखीसराय के तीनों ऑक्सीजन प्लांट हो जाएंगे चालू

जमुई, लखीसराय9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लखीसराय सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के लिए बना शेड। - Dainik Bhaskar
लखीसराय सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के लिए बना शेड।
  • जमुई में 2 तो लखीसराय में एक ऑक्सीजन प्लांट का हो रहा है निर्माण

वायरल फीवर और कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका के बीच ऑक्सीजन प्लांट निर्माण का काम लखीसराय और जमुई दोनों जिलों में जारी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार इस माह के अंतिम सप्ताह तक दोनों जिलों की ऑक्सीजन प्लांट से आपूर्ति शुरू हो जाएगी। लखीसराय में सदर अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन प्लांट के लिए चिह्नित स्थल पर सिविल और इलेक्ट्रिकल का कार्य एनएचएआई के द्वारा किया जा रहा है। थोड़ा-बहुत काम बाकी है, जिसे तेजी से पूरा किया जा रहा है।

दूसरी ओर वार्डों तक ऑक्सीजन कनेक्शन पहुंचाने का काम बिहार मेडिकल कॉरपाेशन कर रही है। हालांकि ऑक्सीजन प्लांट लगाने वाली कंपनी डिफेंस रिसर्च डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन डीआरडीओ के अधिकारी अभी तक भौतिक निरीक्षण के लिए नहीं पहुंचे हैं। बताया गया कि डीआरडीओ के अधिकारी बेंगलुरु से पहुंचेंगे। कई दिन आने की बात कर चुके हैं, लेकिन अभी तक नहीं पहुंचे हैं। ऐसे में हैदराबाद से 25 अगस्त को ही लखीसराय पहुंच गया है।

15 दिन में सुविधा
दूसरी ओर जमुई के सदर अस्पताल में लगे दो आक्सीजन प्लांट से 15 दिन में आक्सीजन की सप्लाई शुरू हो जाएगी। ऑक्सीजन प्लांट चालू होने से लोगों को ऑक्सीजन के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। पिछले साल कोरोना काल में ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए सदर अस्पताल में आक्सीजन प्लांट लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई। अस्पताल परिसर में एक ऑक्सीजन प्लांट पीएम केयर फंड से तो दूसरा गेट्स फाउंडेशन के द्वारा बनाया गया है। ऑक्सीजन प्लांट पूरी तरह से बनकर तैयार भी हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम सुधांशु नारायण लाल ने बताया कि आक्सीजन प्लांट में सिर्फ मिनीफोल्ड लगाना बाकी है। मिनीफोल्ड का सारा सामान भी आ चुका है। इंजीनियर आकर इसे इंस्टॉल करेंगे और ऑक्सीजन प्लांट सप्लाई देना शुरू कर देगा। इसमें ज्यादा से ज्यादा 15 दिनों का वक्त लगेगा। उसके बाद आक्सीजन प्लांट शुरू हो जाएगा।

प्रत्येक मिनट 500 लीटर ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता| प्रत्येक मिनट 500 लीटर ऑक्सीजन उत्पादन का होगा। लखीसराय सदर अस्पताल परिसर में स्थापित किए जा रहे आक्सीजन प्लांट की क्षमता 500 लीटर प्रति मिनट होगी। इससे हर रोज 250 सिलेंडर भरा जाएगा। प्लांट शुरू होने के बाद जिले में आक्सीजन की कमी अब नहीं होगी।

डीएम ने मिट्टी भराई का दिया निर्देश| शनिवार की देर शाम डीएम संजय कुमार सिंह ने लखीसराय सदर अस्पताल में लगने वाले ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का निरीक्षण किया। डीएम ने निर्देश दिया कि प्लांट के अंदर मिट्टी भराई और ब्रिक्स सोलिंग का कार्य जल्द से जल्द निपटा लें। उन्होंने कहा कि मशीन लगाने के दौरान क्रेन का प्रयोग होने से मिट्टी के धंसने की संभावना रहती है।

जमुई में हर मिनट 1450 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा
डीपीएम सुधांशु नारायण लाल ने बताया कि सदर अस्पताल परिसर में लगा दोनों आक्सीजन प्लांट पूरी तरह से तैयार है। मिनीफोल्ड लगाने के बाद बैकअप में ऑक्सीजन सिलेंडर भी रखा जा सकेगा। दोनों प्लांट से कुल मिलाकर 1450 लीटर ऑक्सीजन प्रतिमिनट सप्लाई होगा। ऐसे में जिले में ऑक्सीजन के कमी नहीं होगी। मिनीफाेल्ड लगाने के लिए जिस जगह का चयन किया गया था इंजीनियर द्वारा उस जगह को उचित नहीं बताया जिस कारण प्लांट चालू करने में देरी हुई।

खबरें और भी हैं...