जमुई में तीसरे चरण के आंकड़े:पंचायत चुनाव में बह रही है बदलाव की बयार; अब तक 46 पंचायतों में 7 ही मुखिया ही बचा पाए अपनी सीट

जमुई9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गंगरा पंचायत से निर्वाचित मुखिया अंजनी सिंह। - Dainik Bhaskar
गंगरा पंचायत से निर्वाचित मुखिया अंजनी सिंह।

जमुई में पंचायत चुनाव को लेकर जनता बदलाव के मूड में दिख रही है। पिछली दफा जनता ने जिन्हें सर आंखों पर बिठा कर पंचायत की कमान सौंपी थी, उनमें से ज्यादातर जनता की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर पाए। तब चुनाव जीतने के बाद जनता पर रौब और योजनाओं के लोभ ने तमाम जनप्रतिनिधियों की आंखों पर काला चश्मा चढ़ा दिया था, जिसे जनता ने अबकी बार उतार दिया।

तीसरे चरण के मतदान के पश्चात प्राप्त परिणामों के आंकड़े बताते हैं कि जिले के 46 पंचायतों में से 39 पंचायतों के मुखिया को जनता ने नकार दिया है। 7 पंचायतों की जनता ने एक बार फिर से पुराने जनप्रतिनिधियों को मौका दिया है।

तीसरे चरण की बात करें तो गिद्धौर प्रखंड के 8 पंचायतों का चुनाव कार्य पूरा हो चुका है। प्राप्त परिणामों में एक मुखिया ही ऐसे जो अपने सीट बचा पाए, जबकि 7 पंचायतों पर नए चेहरे पर लोगों ने भरोसा जताया। जिला परिषद भाग-3 पर अनीता देवी 1811 मतों से विजयी हासिल किया है। सीट बचाने में पूर्वी गुगुलडीह पंचायत की सुनीता देवी (पूर्व मुखिया बबलू यादव की पत्नी) हैं, इसके अलावा सभी 7 पंचायतों में मतदाताओं ने नए चेहरे पर भरोसा जताया है।

गिद्धौर प्रखंड से जो मुखिया चुने गए हैं, वह हैं -
रतनपुर से भोला यादव
पपरसंडा से कला देवी
मौरा से धनराज यादव
कुंधूर से रामबचन पासवान
कोलहुआ से रूबी देवी
पूर्वी गुगुलडीह से सुनीता देवी
सेवा से आशीष साह
गंगरा से अंजनी सिंह

गिद्धौर प्रखंड में पड़नेवाले जिला परिषद भाग 3 से अनीता देवी ने विजय हासिल की है।