पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौसम का मिजाज:न्यूनतम पारा 4.50; ठंड ने पांच साल का तोड़ा रिकॉर्ड, सबसे सर्द दिन रहा बुधवार

जमुई2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौसम वैज्ञानिक ने कहा- आने वाले तीन दिन में और गिरेगा पारा
  • तेज हवा और शीतलहर के कारण और बढ़ेगी ठंड, बादलों से घिरा रहेगा आसपान

उत्तर भारत के विभिन्न भागों में पश्चिमी विक्षोभ के चलते बारिश और जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में वर्फबारी के चलते पूर्व बिहार, कोसी और सीमांचल में अचानक से अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी हिमालय से सर्द और शुष्क उत्तरी एवं उत्तरी-पश्चिमी हवा मैदानी क्षेत्रों की ओर बह रही है जिससे उत्तर भारत में न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। दिनभर ठंडी हवा चलने के कारण अधिकतम तापमान में 6 डिग्री की गिरावट के साथ बुधवार को सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा। मंगलवार से मौसम में बदलाव हुआ था, लेकिन तापमान में खासा गिरावट नहीं होने के कारण गर्माहट थी। लेकिन बुधवार को अचानक न्यूनतम तापमान 4.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया और अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस तक चला गया। ऐसे में बुधवार का दिन सबसे ठंडा दिन रहा।

12 किमी की रफ्तार से चल रही पछुआ हवा और शीतलहर के कारण हाथ-पैर ठंडा रहा। गर्म कपड़ों के पहने रहने के बाद भी कनकनी महसूस हो रही थी। हालांकि यह ठंड गेहूं, सरसों व चना आदि फसलों के लिए बेहतर बताई जा रही है।

और बढ़ी ठंड तो होगा नुकसान
केवीके के कृषि वैज्ञानिक डॉ. प्रमोद कुमार ने बताया कि वर्तमान समय में जो तापमान है उससे गेहूं, आलू, चना व सरसों के फसल को फायद होगा। क्योंकि कम तापमान इन फसलों के लिए फायदेमंद हैं। लेकिन आने वाले दिनों में अगर पाला पड़ने लगा और ठंड और अधिक बढ़ती है तो सरसो के फसल में लाही, आलू और गेहूं के फसल में झुलसा रोग की संभावना बढ़ जाएगी। आसमान में बादल छाये रहते हैं और शीतलहर में बढ़ोतरी होती है तो फसल को नुकसान पहुंच सकता है।

ठंड से बुजुर्गों व बच्चों को खतरा
सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉ. मनीषी अनंत बताते हैं कि तापमान में आई गिरावट से बुजुर्गों और बच्चों को सबसे ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। बुजुर्ग और बच्चों को इस तरह के मौसम में अपने शरीर को पूरी तरह से ढंक कर रखना चाहिए। सुबह बेड़ से उठने से पहले अपने शरीर के तापमान को सामान्य होने दें तब ही बाहर निकलें। बाहर निकलने से पहले पूरे शरीर और कान को ढंक लें नहीं तो ठंड लगने की संभावना बनी रहेगी।

8 से 12 किमी प्रति घंटे से चली हवा
मौसम वैज्ञानिक डाॅ. अभिजित शर्मा ने बताया कि अभी मौसम में फेरबदल होने की संभावना जताई जा रही है। बुधवार को अधिकतम तापमान लगभग 24 डिग्री सेल्सियस तक रहा है। लेकिन आने वाले दो तीन दिनों में अधिकतम तापमान में और गिरावट दर्ज की जाएगी और अधिकतम तापमान 20 से 21 डिग्री तक पहुंच जाएगा। शीतलहर भी चलेगी और हवा की गति करीब 8 से 12 किमी प्रति घंटा रहने के कारण कनकनी बरकरार रहेगी। अभी ठंड के और बढ़ने की संभावना है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser