पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Jamui
  • On The Fifth Day Of Navratri, Worshiped Mother Skandamata And Prayed For The Liberation From Corona, Today The Worship Of Katyayani, The Sixth Form Of Mother, Will Be Done

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मां के पांचवे स्वरूप स्कंदमाता की पूजा-अर्चना की गई:नवरात्र के पांचवें दिन मां स्कंदमाता की पूजा कर कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना की,आज होगी मां के छठे स्वरूप कात्यायनी की पूजा-अर्चना

जमुईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के मंदिरों व पूजा पंडालों में कोरोना गाइडलाइन का पालन कर संपन्न हो रही दुर्गा पूजा

नवरात्रि के पांचवें दिन यानि बुधवार को श्रद्धालु भक्तिभाव से कोरोना संक्रमण के बीच नियमों का पालन करते हुए मां के पांचवे स्वरूप स्कंदमाता की पूजा-अर्चना की। मान्यता है कि इनकी पूजा करने से व्यक्ति के लिए मोक्ष के द्वार खुल जाते हैं। साथ ही परम सुख की प्राप्ति मिलती है। इनकी 4 भुजाएं हैं। मां का आसन कमल है। यही कारण है कि इन्हें पद्मासना देवी भी कहा जाता है।

पंडित मनोहर आचार्य बताते हैं कि मां की पूजा-अर्चना से व्यक्ति का मन समस्त लौकिक, सांसारिक, मायिक बंधनों से विमुक्त होकर मां के इस स्वरूप में पूर्णतः तल्लीन हो जाता है। सच्चे मन से अगर मां स्कंदमाता की आराधना की जाए तो व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। नवरात्र के छठे दिन यानि गुरुवार को कात्यायनी देवी की पूरे श्रद्धा भाव से पूजा की जाती है। कात्यायनी देवी दुर्गा जी का छठा अवतार हैं। शास्त्रों के अनुसार देवी ने कात्यायन ऋषि के घर उनकी पुत्री के रूप में जन्म लिया, इस कारण इनका नाम कात्यायनी पड़ गया। मां कात्यायनी अमोघ फलदायिनी मानी गई हैं। शिक्षा प्राप्ति के क्षेत्र में प्रयासरत भक्तों को माता की अवश्य उपासना करनी चाहिए। दिव्य रुपा कात्यायनी देवी का शरीर सोने के समाना चमकीला है, चार भुजा धारी मां कात्यायनी सिंह पर सवार हैं। अपने एक हाथ में तलवार और दूसरे में अपना प्रिय पुष्प कमल धारण किए हैं। अन्य दो हाथ वरमुद्रा और अभयमुद्रा में हैं।

विधि विधान से मां की पूजा करते हुए लोगों ने कोरोना से मुक्ति के लिए प्रार्थना की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें