कैंपस अलर्ट:मुंगेर विवि की लेटलतीफी से धनराज सिंह कॉलेज के विद्यार्थी परेशानी में

जमुई/लखीसराय/मुंगेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • धनराज सिंह कॉलेज सिकंदरा को नहीं है विज्ञान संकाय की मान्यता
  • कमेटी की जांच रिपोर्ट देने के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

मुंगेर विश्वविद्यालय प्रशासन की उदासीनता से धनराज सिंह कॉलेज सिकंदरा में विज्ञान संकाय में नामांकित छात्र-छात्राओं की परेशानियों बढ़ा सकती है। साथ ही स्नातक पार्ट वन शैक्षणिक सत्र 2018-21 के विज्ञान संकाय के छात्र-छात्राओं की परेशानियों और अधिक बढ़ सकती है। क्योंकि विश्वविद्यालय ने डीएस कॉलेज सिकंदरा से संबंधित मामले की जांच के लिए जो कमिटी बनाई थी उसने अपनी रिपोर्ट एक माह पूर्व ही विश्वविद्यालय को सौंप दिया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस पर कोई निर्णय नहीं लिया है। जबकि विश्वविद्यालय अब स्नातक पार्ट टू शैक्षणिक सत्र 2019-22 में नामांकन आरंभ करने की तिथि घोषित कर चुका है। इसके अलावा विश्वविद्यालस शीघ्र ही स्नातक पार्ट थ्री शैक्षणिक सत्र 2018-21 के अंतिम वर्ष की परीक्षा की भी सूचना जारी कर सकता है।

संचिका में बंद पड़ा है धनराज सिंह कॉलेज का मामला
धनराज सिंह कॉलेज सिकंदरा को विज्ञान संकाय की मान्यता नहीं है। इसके बावजूद विश्वविद्यालय और कॉलेज ने वर्ष 2018 से 2021 तक के विज्ञान स्नातक में नामांकन ले लिया। विगत साल 2020 में यह मामला सामने आया। लेकिन तत्कालीन कुलपति प्रो. रणजीत कुमार वर्मा ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। लेकिन कुलपति प्रो. श्यामा राय के कार्यभार संभालने के बाद ही इसकी जांच के लिए कमेटी गठित की। जिसने अपनी रिपोर्ट विश्वविद्यालय को दी तथा इस कालेज में नामांकित विद्यार्थियों को निकट के एक कालेज में समायोजित करने की सिफारिश की। इसके बावजूद अब तक विश्वविद्यालय इस पर कोई आदेश जारी नहीं किया है।

विज्ञान के छात्र-छात्राओं की बढ़ सकती है परेशानी
स्नतक पार्ट वन शैक्षणिक सत्र 2018-21 के विज्ञान संकाय में इस कॉलेज में नामांकित छात्र-छात्राओं का यह अंतिम वर्ष है। विश्वविद्यालय जल्द ही इस सत्र के अंतिम वर्ष की परीक्षा को लेकर परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि जारी कर सकता है। यदि इन छात्र-छात्राओं का समायोजन दूसरे कॉलेज में नहीं होता है तो अंतिम वर्ष की परीक्षा पास करने के बावजूद इस कॉलेज के विज्ञान विषय के छात्र-छात्राओं के प्रमाण-पत्र की उपयोगिता नहीं रह जाएगी। रजिस्ट्रेशन से वंचित रखे गए थे छात्र
क्योंकि इस कालेज के पास विज्ञान संकाय की मान्यता ही नहीं है। वहीं विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक पार्ट टू शैक्षणिक सत्र 2019-22 में नामांकन के लिए 13 दिसंबर से प्रक्रिया आरंभ करेगा। इस बाबत सूचना जारी की जा चुकी है। लेकिन इस नामांकन प्रक्रिया में धनराज सिंह कॉलेज के विज्ञान के छात्र-छात्राएं शामिल होंगे या नहीं, इसपर संशय है। स्नातक पार्ट वन शैक्षणिक सत्र 2020-23 के छात्र-छात्राओं के रजिस्ट्रेशन के समय इस कॉलेज के छात्र-छात्राओं को रजिस्ट्रेशन से वंचित रखा गया था।

जल्द ही दूसरे कॉलेज में किया जाएगा समायोजन, रिपोर्ट सौंपी
जांच कमेटी ने अपनी रिर्पोट विश्वविद्यालय को सौंप दी है। कुलपति के आने के बाद जल्द ही डीआरएस कॉलेज, सिकंदरा के विज्ञान संकाय के छात्र-छात्राओं का समायोजन दूसरे कॉलेज में किया जाएगा।
-डा. बीसी पांडेय, प्रभारी कुलसचिव

खबरें और भी हैं...