पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Jamui
  • The Husband Hit So Many Punches In The Wife's Stomach That The 6 month old Girl Who Died In The Womb Died; Police Engaged In Reconciliation Instead Of Case

बेबस मां की उजड़ी कोख:पति ने पत्नी के पेट में इतने मुक्के मारे कि गर्भ में पल रही 6 माह की बच्ची मर गई; केस के बजाए सुलह में जुटी रही पुलिस

जमुई13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दहेजलोभी पति ने पत्नी की गर्भ में ही अजन्मी बच्ची की हत्या कर दी। पत्नी की गर्भ में पल रही छह माह की बच्ची की हत्या करने के लिए गर्भवती की पेट में पति लात-घूसे तब तक मारता रहा जबतक बच्ची की मौत न हो जाए। मारपीट के दौरान जब महिला का रक्त स्त्राव होने लगा तब उसे छोड़ा। घटना टाउन थानाक्षेत्र के इकेरिया गांव की है। इधर, पीड़ित पत्नी ने पति और ससुराल वालों पर मारपीट के साथ ही गर्भ में पल रहे बच्चे की हत्या का आरोप लगाया है।

बताया जाता है कि सिकंदरा थानाक्षेत्र के ईंटासागर पंचायत के चारण गांव निवासी वीरेंद्र पासवान अपनी पुत्री प्रियंका कुमारी की शादी इकेरिया गांव निवासी बासुदेव पासवान के पुत्र धर्मवीर पासवान के साथ एक वर्ष पहले हुई थी। शादी के बाद एक माह तक तो सबकुछ ठीक-ठाक चल रहा था, लेकिन अचानक एक माह बाद ससुराल वाले उसके साथ मारपीट करने लगे और मायके से पैसे की मांग करने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया।

पीड़ित प्रियंका कुमारी महिला थाना में आवेदन देते हुए कहा कि उसके ससुराल वाले उसे बार-बार मायके चारण गांव भेज दिया करते थे। लेकिन पिता गरीब किसान होने के कारण पैसे देने में असमर्थ थे। पैसा नहीं लेकर आने के कारण प्रियंका के साथ उसके पति धर्मवीर पासवान, सास मंजू देवी, ससुर बासुदेव पासवान, गोतनी जूली देवी, ननद पुनीता देवी सहित अन्य ससुराल वाले मारपीट करते रहते थे। पिछले छह माह से प्रियंका गर्भवती थी। उसके बावजूद उसके साथ लगातार मारपीट की जा रही थी।

दर्द से जमीन पर छटपटाती रही प्रियंका

थाना में दिए आवेदन में पीड़िता प्रियंका ने बताया कि 12 सितंबर की रात ससुराल वाले उसे मायके से पैसे मांगने को बोलते हुए मारपीट करने लगे। मुख्य आरोपी पति धर्मवीर पासवान अपनी छह माह की गर्भवती पत्नी के साथ बुरी तरह से मारपीट करने लगा। गर्भवती होने के कारण प्रियंका दर्द से कराहने लगी। यह देख धर्मवीर पासवान उसके पेट पर लात और घूसे से प्रहार करते हुए उसके बच्चे की हत्या कर दी। मारपीट के कारण प्रियंका का रक्तस्त्राव शुरू हो गया और वह दर्द से जमीन पर लोटने लगी।

प्राथमिकी नहीं होने पर आवेदन देकर चली गई पीड़िता

पीड़िता अपने पिता वीरेंद्र पासवान के साथ सुबह 9 बजे महिला थाना पहुंची। महिला थानाध्यक्ष ज्ञान भारती के छुट्‌टी पर रहने के कारण अवर निरीक्षक रामधारी यादव को आवेदन दिया गया। इधर पीड़िता सुबह के 9 बजे से दोपहर के 2.30 बजे तक मृत बच्ची का शव लेकर थाना परिसर में प्राथमिकी दर्ज कराने की गुहार लगाती रही, लेकिन अवर निरीक्षक रामधारी यादव उसके पति को फोन कर समझौता कराने का प्रयास कर रहे थे। पीड़िता हार-पार कर एसआई को आवेदन देकर चली गई। अवर निरीक्षक रामधारी यादव आरोपी पति को फोन कर यह कहते दिखे कि तुम आकर हमसे मिलो हम ससुराल वालों को समझा देंगे, केस नहीं होने देंगे।

प्रियंका का नहीं कराया इलाज

जब प्रियंका का रक्तस्राव बहुत ज्यादा होने लगा तो ससुराल वाले स्थानीय दाई को बुलाकर उसका प्रसव कराई जिसमें उसके गर्भ से मृत बच्चा पैदा हुआ। छह माह की उम्र में ही निर्दयी पिता ने अपनी ही बच्ची को कोख में ही मार डाला। इसके बाद दर्द से कराहती प्रियंका को किसी डाक्टर के पास भी नहीं दिखाया गया।

  • पूरे मामले की जांच की जाएगी। अगर पदाधिकारी दोषी पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पीड़िता के आवेदन पर हर हाल में प्राथमिकी दर्ज होगी। वैसे यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं आया है। - पीके मंडल, एसपी जमुई

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें