महामारी:प्राचार्य सहित तीन की कोरोना संक्रमण से मौत, विद्यालय के कई शिक्षक हैं पॉजिटिव

जमुई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह बड़ी लापरवाही है: सदर अस्पताल में वहील चेयर पड़ा प्राचार्य का शव। - Dainik Bhaskar
यह बड़ी लापरवाही है: सदर अस्पताल में वहील चेयर पड़ा प्राचार्य का शव।
  • जिले में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, फिर भी लापरवाही कर रहे लोग
  • मो. खालीद को सांस लेने में थी परेशानी, 10 दिन पूर्व संक्रमित हुए थे

जिले में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। हर दिन कोरोना संक्रमण से लोगों की जान जा रही है। इन सब के बीच लोगों की लापरवाही लगातार कोरोना संक्रमण को बढ़ावा दे रहा है। जिले में महज 24 घंटे के अंदर तीन लोगों की कोरोना संक्रमण से जान चली गई। वहीं एक घंटे के अंदर सात ऐसे गंभीर मरीजों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया जिनका ऑक्सीजन लेवल गिरता जा रहा था। गुरुवार को कोरोना संक्रमण से मरने वालों में जमुई की 32 वर्षीय शिखा कुमारी, प्लस टू हाई स्कूल जमुई के प्राचार्य 59 वर्षीय मो. खालीद एवं गुगुलडीह निवासी 45 वर्षीय महिला सुषमा सिंह शामिल है। प्लस टू हाई स्कूल जमुई के प्राचार्य मो. खालीद गोड्‌डा जिला के रहने वाले हैं। वे कई वर्षों से जमुई में ही रह रहे थे और इनका पूरा परिवार गाेड्‌डा में। दस दिन पहले जांच में इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इनके साथ विद्यालय के दो अन्य कर्मी की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव थे। वहीं पिछले कुछ दिनों से इन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी तो शहर के एक निजी क्लीनिक में भर्ती हो गए और वहां ऑक्सीजन पर थे। बताया जाता है कि बुधवार को ऑक्सीजन खत्म हाे गया था और वे बिना ऑक्सीजन के थे। निजी क्लीनिक द्वारा उन्हें ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं कराया जा सका और वे सदर अस्‍पताल में भर्ती नहीं हुए जिस कारण उनकी हालत बिगड़ती गई। गुरुवार की दोपहर बेहद नाजुक स्थिति में उन्हें सदर अस्पताल लाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

एक की मायागंज में हुई मौत, दूसरे को भर्ती करने से किया इंकार
32 वर्षीय शिखा कुमारी को बुधवार को मायागंज रेफर किया गया था। वहां एडमिट नहीं किया गया। एंबुलेंस से रात के करीब 10 बजे शिखा सदर अस्पताल पहुंची जहां ऑक्सीजन लगाने की तैयारी चल रही थी तभी उनकी मौत हो गई। तीसरी मौत गुगुलडीह निवासी 45 वर्षीय सुषमा सिंह की हुई। सुषमा सिंह की जांच रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई थी। गुरुवार की सुबह सुषमा की मायागंज में मौत हो गई।

एक घंटे में सात गंभीर मरीजों को किया भर्ती
डीपीएम सुधांषु नारायण लाल ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। गुरुवार को सदर अस्पताल के डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर में 1 घंटे में सात ऐसे गंभीर मरीजों को भर्ती कराया गया जिन्हें सास लेने में परेशानी हो रही थी। इन मरीजों में 2 खैरा तथा 5 मुख्यालय व उसके आस-पास के हैं। डीपीएम ने आगे बताया कि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखकर बेड की संख्या बढ़ाई जा रही है और ऑक्सीजन पाइप का कनेक्शन भी कराया जा रहा है। देर शाम तक 30 और बेड कोविड केयर सेंटर में तैयार कर लिया जाएगा ताकि आने वाले मरीजों को भर्ती लिया जा सके और उनका ट्रिटमेंट किया जा सके।

खबरें और भी हैं...