कैंपस अलर्ट:कोरोना को लेकर विवि ने सभी परीक्षाओं को किया स्थगित, सीनेट की बैठक पर भी संशय

जमुई /लखीसराय11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 10 जनवरी से पांच केंद्रों पर होनी थी बीएड की परीक्षा, सुरक्षा को जरूरी
  • 50%कर्मी पहुंचेंगे विवि, फिलहाल 21 जनवरी तक के लिए पाबंदी

मुंगेर विश्वविद्यालय ने कोरोना संक्रमण को लेकर जारी गृह विभाग के निर्देश के आलोक में सभी अंगीभूत एवं संबद्ध कालेजों को 21 जनवरी तक के लिए बंद करने का आदेश जारी किया है। इसके साथ ही विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित होने वाली सभी परीक्षाओं को भी अगले आदेश तक के लिए स्थगित करने की सूचना जारी किया है। कुलसचिव डा. सत्येंद्र नारायण सिंह ने यह सूचना जारी की है। हलांकि गृह विभाग ने अपने आदेश में विश्वविद्यालय स्तर पर परीक्षाओं के संचालन को लेकर कोई दिशा-निर्देश नहीं दिया है। फलस्वरुप विश्वविद्यालय के अधिकारी असमंजस की स्थिति में हैं। जबकि दूसरी ओर विवि द्वारा परीक्षा स्थगित किए जाने की सूचना प्रकाशित करने के बाद विद्यार्थियों के बीच अपने भविष्य के प्रति उहापोह की स्थिति बन गई है। कुलसचिव ने अपने द्वारा जारी आदेश में कहा है कि गृह विभाग (विशेष शाखा) के द्वारा जारी पत्र के आलोक में विगत 5 जनवरी को जारी आदेश में आंशिक संसोधन करते हुए सभी अंगीभूत एवं संबद्ध कालेज 21 जनवरी तक बंद रहेंगे। इस अवधि में शिक्षण कार्य संचालित नहीं होगा, जबकि 50% शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों की उपस्थिति रहेगी। विवि के प्रशासनिक कार्यालय में भी कर्मियों की उपस्थिति 50% रहेगी। जबकि कार्यालय में आगंतुकों का प्रवेश वर्जित रहेगा। इस अवधि में ऑनलाइन शिक्षण कार्य संचालित किए जा सकेंगे। इसके साथ ही विश्वविद्यालय के अंतर्गत आयोजित होने वाली सारी परीक्षाएं अगले आदेश तक स्थगित रहेंगी।

खुद के आदेशों की पेंच में फंसा एमयू
गृह विभाग के आदेश के आलोक में विवि ने जिस प्रकार का आदेश जारी किया है, इसके कारण विवि खुद ही इसके पेंच में फंस गया है। अधिकारियों ने कहा है कि परीक्षा संचालन को लेकर गृह विभाग के पत्र में कहीं भी विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षाओं के आयोजन किए जाने की बात नहीं की गई है। जिसके कारण विवि द्वारा सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। लेकिन यदि हम गृह विभाग के आदेश को देखें तो इसमें 50% की उपस्थिति के साथ विवि के कार्यालय में कर्मियों की उपस्थिति को लेकर भी बात नहीं कही गई है। लेकिन कुलसचिव ने अपने आदेश में विवि कार्यालय में भी 50 प्रतिशत कर्मियों की उपस्थिति निर्धारित कर दी है।

13 जनवरी को सीनेट की बैठक है प्रस्तावित
गृह विभाग के निर्देश के आलोक में कुलसचिव ने आदेश जारी कर विश्वविद्यालय तथा कालेजों में 50% अधिकारियों और कर्मियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने को कहा है। इस बीच 13 जनवरी को सीनेट की बैठक भी आयोजित की जानी है। इसमें विभिन्न जिलों से आने वाले सीनेट सदस्यों के अलावा विवि के कर्मी भी मौजूद रहेंगे। ऐसे में यदि विवि 13 जनवरी को सीनेट की बैठक आयोजित करता है तो यह भी गृह विभाग के आदेश का उल्लंघन ही होगा।

दूसरे जिलों से आए सीनेट सदस्यों को कैसे मिलेगा प्रवेश
वहीं गृह विभाग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार किसी भी कार्यालय में बाहर से आने वाले आगंतुकों का प्रवेश वर्जित होगा। ऐसे में लखीसराय, खगड़िया, जमुई से आने वाले सीनेट सदस्यों को किस प्रकार प्रवेश दिया जाएगा। हलांकि विश्वविद्यालय सीनेट की बैठक को स्थगित करेगा अथवा नहीं, इस मामले में विश्वविद्यालय के अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...