असुविधा:सिंचाई की समस्याओं की जांच करने पहुंचे डीएफओ

झाझा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टूटे पैइन की जांच करते डीएफओ। - Dainik Bhaskar
टूटे पैइन की जांच करते डीएफओ।
  • धमना में वन विभाग के पौधरोपण करने से किसानों को पानी मिलने में हो रही दिक्कत

धमना में वन विभाग के द्वारा पौधारोपण किए जाने से किसानों को खेती के लिए मिलने वाला पानी बाधित होने से आक्रोशित ग्रामीणों के द्वारा गुरुवार को प्रदर्शन करते हुए डीएम से लेकर डीएफओ सहित अन्य विभागों तक आवेदन भेजते हुए सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध किये जाने की मांग की थी। किसानों ने खेती के लिए पानी नहीं मिलने पर खेती नहीं होने की शिकायत दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से प्रकाशित किया गया। इसे देख पदाधिकारी ने इस मामले में संज्ञान लिया और शनिवार को जमुई डीएफओ पियूष बरनवाल स्वयं धमना पहुंचकर किसानों से मिलने के बाद उक्त क्षेत्र का जायजा लिया। इस दौरान किसानों ने डीएफओ को बताया कि हमलोगों को सैकड़ों एकड़ जमीन में आज पानी की किल्लत के कारण खेती नहीं कर पा रही है। धमना में लगभग 500 एकड़ जमीन पानी के अभाव में खेती से वंचित हो रहा है।

डीएफओ ने कहा- जल्द ही इस ओर पहल कर छोड़ा जाएगा पानी
किसानों के परेशानी का मुख्य कारण वन विभाग द्वारा पौधारोपण किया गया जिससे पैईन जगह जगह टूट गया। उस वक्त हमलोगों को वन विभाग ने आश्वासन दिया था कि पौधारोपण कार्यक्रम खत्म होगा तो केनाल से पानी छोड़ा जायेगा लेकिन अबतक हमलोगों को सिंचाई के लिए पानी नहीं उपलब्ध हो पाया है। ग्रामीणों ने बताया कि नागी केनाल संख्या 3 से होकर घोड़वाटांड धमना मोड़ होकर पानी हमलोगों के खेतों से होकर गुजरता था। लेकिन पौधारोपण कार्यक्रम खत्म हो जाने के बाद भी हमलोगों को पानी नहीं नसीब हो पा रहा है। जिसके कारण 1 हजार परिवार के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। वहीं, डीएफओ ने लोगों को आश्वासन दिया कि जल्द ही इस ओर पहल किया जायेगा।

खबरें और भी हैं...