पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक:पांच मिनट से अधिक बजे सायरन तो आपदा, बाढ़ आपदा को अधिकारियों ने जनप्रतिनिधियों के साथ कि बैठक

जोगबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बाढ़ आपदा को लेकर जोगबनी हाई स्कूल परिसर में शुक्रवार को अधिकारियों ने जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों के साथ बैठक की। इस बैठक में मुख्य रूप से बाढ़ के समय उससे कैसे बचा जाए इस पर विस्तृत से चर्चा की गई। ग्रामीणों को बाढ़ से बचने हेतु बाढ़ के समय ऊंचे स्थान पर तथा चिन्हित बाढ़ आश्रय स्थान पर आवश्यक सामानों को लेकर जाने की बात अधिकारियों ने कही।

बैठक में लोगों से यह कहा गया कि बाढ़ आने पर पहले ऊंचे अस्थाना तलाश कर वहां आश्रय ले साथ ही अतिआवश्यक सामग्री जैसे खाने पीने, कपड़ा व आवश्यक दस्तावेज को ही साथ ले जाएं। बैठक के दौरान फारबिसगंज अनुमंडल अधिकारी सुरेंद्र कुमार अलबेला ने बाढ़ आपदा से बचाव पर चर्चा करते हुए कहा कि 22 जून को रात्रि 8 बजे सायरन की मॉकड्रील की जाएगी।

सायरन बजाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को सतर्क करना है साथ ही उन्होंने कहा कि आप सभी अपने-अपने क्षेत्र के लीडर हैं आपको ही सभी को बताना है कि आवश्यक सामग्री लेकर चिन्हित जगहों पर बाढ़ आश्रय तथा ऊंचे स्थानों पर श्रण लेने की जानकारी लोगों को देना है। इस बीच जनप्रतिनिधियों ने अधिकारियों को जोगबनी की समस्या से अवगत कराते हुए कहा कि जोगबनी में पानी का निकासी बंद होने से भी बाढ़ की स्थिति उत्पन्न होती है साथी चंगामारी धार में अवैध अतिक्रमण भी बाढ़ का मुख्य कारण हो सकता है। मौके पर जोगबनी नप मुख्य पार्षद अनिता देवी, इओ चंद्रराज प्रकाश, सीओ संजीव कुमार, एसएसबी सहायक कमांडेंट रोमेश याईखोम आदि थे।

खबरें और भी हैं...