पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुर्घटना:करंट की चपेट में आने से 10 वर्षीय बच्चे की मौत, तीन घंटे तक सड़क जाम, प्रदर्शन

सलमरी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद सड़क जाम कर प्रदर्शन करते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद सड़क जाम कर प्रदर्शन करते ग्रामीण।
  • सालमारी के वार्ड संख्या-एक के छोघरिया गांव की घटना,बोले सीओ-मिलेगा मुआवजा
  • बालक के साथ गाय की भी घटनास्थल पर माैत, बच्चे के पिता परदेस में करते हैं काम

बुधवार की सुबह बिजली की चपेट में आने से एक 10 वर्षीय अमित कुमार की मौत हो गई है। इस घटना के बाद विद्युत विभाग की लापरवाही को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने सड़क पर आगजनी कर जमकर प्रदर्शन किया। मामला सालमारी थाना क्षेत्र के वार्ड संख्या 1 छोघरिया गांव की है। ग्रामीण विद्युत विभाग पर आरोप लगाते हुए बताया कि क्षेत्र में अधिकतर बिजली की तारे कमजोर और जर्जर हो गई है। जो आए दिन कहीं ना कहीं टूट कर गिरते रहता है। इस समस्या से विद्युत विभाग को अवगत कराया गया था। लेकिन उनके द्वारा इस ओर ध्यान नहीं देने के कारण एक बच्चे की मौत हो गई। ग्रामीणों की मांग विद्युत विभाग के लापरवाह अधिकारियों को अविलंब कार्रवाई के साथ बच्चे के परिवार वालों को उचित मुआवजा दिया जाए।

ग्रामीणों ने परिवार वालों को दी थी घटना की सूचना
घटना को लेकर मृतक के परिजनों ने बताया कि बुधवार की सुबह अमित घर के गाय को लेकर क्षेत्र जा रहा था इसी दौरान घर से थोड़ी दूर पर ही पुल से बिजली का तार टूट कर नीचे गिर पड़ा। जिसमें करंट चालू था। गिरे हुए तार की चपेट में अमित और गाय आ गई। जिससे दोनों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा इसकी जानकारी परिवार वालों को दी गई। मौके पर परिवार के सदस्य पहुंचकर अमित को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे लेकिन चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इधर बच्चे की मौत की जानकारी मिलते ही मां बार-बार बेहोश हो रहे थ जबकि उनके पिता सतानू सिंह बाहर काम करते है। उन्हें फोन पर इस बात की जानकारी दी गई है।

विभाग को सूचना देने पर भी नहीं बदला गया था तार
पूरे इलाके के ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचकर विद्युत विभाग की लापरवाही को लेकर सलमारी बलिया बौलोन सड़क को जाम कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि विभाग को बार बार सूचना देने के बाद भी विद्युत तार मरम्मत की दिशा में कोई कार्य नही किया गया। आक्रोशित लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर 3 घंटों तक प्रदर्शन करते रहें। उनकी मांग अविलंब दोषियों पर कार्रवाई और मृतक के परिवार वालों को उचित मुआवजा दी जाए। ओपी अध्यक्ष पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। जहां आक्रोशित ग्रामीणों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया।

परिजनों को दिया जााएगा मुआवजा
बिजली की चपेट में आने से बच्चे की मौत की जानकारी मिलते ही आजमनगर अंचल पदाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को भरोसा दिलाया कि विद्युत विभाग की इस लापरवाही को लेकर आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्हें 4 लख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।
संजय कुमार झा, सीओ आजमनगर

खबरें और भी हैं...