पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सियायत:अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 25 में से 23 वोट पड़े, डिप्टी मेयर की गई कुर्सी

कटिहार10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम कार्यालय के सभागार में उपमेयर अविश्वास प्रस्ताव में नगर आयुक्त सहित अन्य पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
नगर निगम कार्यालय के सभागार में उपमेयर अविश्वास प्रस्ताव में नगर आयुक्त सहित अन्य पदाधिकारी।
  • मेयर की कुर्सी पहले ही जा चुकी है, अब दोनों के बिना चलेगा नगर निगम
  • विजय सिंह बोले - सच्चाई की हुई है जीत {मंजूर खान बाेले- पार्षदों की हुई खरीद

कटिहार नगर निगम के डिप्टी मेयर मंजूर खान के खिलाफ लगाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लेकर मंगलवार को बैठक हुई। बैठक में 25 में से 23 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिए और इसके बाद डिप्टी मेयर मंजूर खान की कुर्सी चली गई। इसके बाद नगर निगम अब बिन मेयर ओर डिप्टी मेयर का रह गया। 
डिप्टी मेयर की कुर्सी जाने के बाद निवर्तमान मेयर विजय सिंह ने कहा कि यह सच्चाई की जीत है। लेकिन डिप्टी मेयर के द्वारा निगम के प्रति आस्था नहीं था और उनके वार्डों के विकास में भेदभाव किया जाता था। इसलिए उनपर अविश्वास प्रस्ताव लाया जो पारित हो गया। इधर, डिप्टी मेयर मंजूर खान और उनके समर्थकों ने कहा कि सोमवार की रात जिला प्रशासन के लॉकडाउन लगाने के बाद जिला पदाधिकारी से अविश्वास प्रस्ताव की तिथि आगे बढ़ाने की मांग की गयी। लेकिन जिला पदाधिकारी ने पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम होने के हवाला देकर अविश्वास प्रस्ताव करा दिया गया है। मंजूर खान व उनके समर्थकों का यह भी आरोप है कि अविश्वास प्रस्ताव में निगम पार्षदों की खरीद फरोख्त भी की गयी है।   वहीं, अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान करने वाले पार्षद बिमल सिंह बेगानी ने भी कहा कि यह सच्चाई की जीत है। पार्षदों ने विकास के प्रति आस्था रखकर अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मत दिया है। 
पिछले डेढ़ वर्ष नगर निगम में राजनीतिक का खेल जारी था
बता दें कि नगर निगम में राजनीतिक उतार चढ़ाव पिछले डेढ़ वर्ष से चल रहा है। पहले डिप्टी मेयर के सहयोग से मेयर पर अविश्वास प्रस्ताव लगा और मेयर की कुर्सी चली गयी। बाद में मेयर ने भी डिप्टी मेयर की कुर्सी गिराने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ा। परिणाम यह हुआ कि आज नगर निगम मेयर और डिप्टी मेयर विहीन हो गया है। नगर निगम का पिछले डेढ़ वर्ष से न तो एक बोर्ड की बैठक हुई और नहीं कोई विकास का कार्य हुआ है। नगर निगम का विकास राजनीति के हत्थे चढ़ गया है।

निगम का विकास कार्य पूर्णत: अवरुद्ध
नगर आयुक्त मिनेन्द्र कुमार ने इस अविश्वास प्रस्ताव की प्रति राज्य निर्वाचन आयोग को भेज दिया गया और राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा डिप्टी मेयर का चुनाव की तिथि तय होगी। नगर निगम में अब न तो मेयर है और न ही डिप्टी मेयर है। यानी नगर निगम का विकास कार्य पूर्णत: अवरुद्ध होगा। इस अविश्वास प्रस्ताव में कुल 25 निगम पार्षद पहुंचे और 23 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया जबकि एक निगम पार्षद पप्पू पासवान वार्ड 08 ने बैठक की अध्यक्षता की। 

सुरक्षा की थी चाक- चौबंद व्यवस्था 
निर्वाचन अयोग निर्देश पर होगा चुनाव
अविश्वास प्रस्ताव का बैठक किया गया जिसमें 25 निगम पार्षद ने भाग लिया। एक निगम पार्षद ने बैठक की अध्यक्षता किया और 23 ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया। अविश्वास प्रस्ताव की प्रोसिडिंग की प्रति  निर्वाचन आयोग को भेजा । राज्य निर्वाचन अयोग के द्वारा तय तिथि को चुनाव कराया जाएगा।
मिनिन्द्र कुमार, नगर आयुक्त  

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें