निर्णय:जूट मिल चालू करने को लेकर सभी ट्रेड यूनियन करेंगे सत्याग्रह

कटिहार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछले 8 जनवरी 2016 से आरबीएचएम जूट मिल पड़ा है बंद

स्थानीय राजेंद्र आश्रम जिला इंटक कार्यालय में इंटक से संबंधित सभी यूनियनों के प्रतिनिधियों की महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई। बैठक की अध्यक्षता संघ के इंटक अध्यक्ष विकास सिंह ने की। बैठक को संबोधित करते हुए अध्यक्ष ने बताया कि पिछले 8 जनवरी 2016 से आर बी एच एम जूट मिल बंद पड़ा है। मिल चालू करवाने को लेकर सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन किया गया। जनप्रतिनिधियों और ट्रेड यूनियन के साथियों के साथ पटना, दिल्ली में केंद्रीय कपड़ा मंत्री, कपड़ा सचिव, नीति आयोग के चेयरमैन से मिलकर बंद जूट मिल चलाने का अनुरोध किया गया। सांसद, विधायक, विधान पार्षद ने लोकसभा, विधान सभा, विधान परिषद में जूट मिल चालू करवाने को लेकर मजबूती से बातों को रखा।

आंदोलन को मजबूत करने में साथ देने की हुई घोषणा
जिसमें सीटू के नेता सह जिला ऑटो संघ के अध्यक्ष वारिस हुसैन, एटक के जिला अध्यक्ष देव कुमार झा, संरक्षक राम लग्न सिंह, पेंशनर्स एसोसिएशन के मुख्य संरक्षक अधिवक्ता रामानंद सिंह, कामेश्वर सिंह, एचएमएस के जिला अध्यक्ष गिरीश कुमार सिंह, महामंत्री मनोज सिंह, बीएसएसआर के नेता अरूप घोष, उदय डे, सीपीएम के जिला सचिव जयप्रकाश सिंह, एक्टू के नेता मुकुल कुमार, जूट उद्योग स्टाफ संघ के नेता अजय सिंह, जिला ऑटो संघ के कोषाध्यक्ष गौतम घोष, औद्योगिक नियोजक संघ के सचिव नौशाद सिद्दीकी, निजी मोटर वाहन के अध्यक्ष अजीत राय उर्फ टुनटुन राय, एनसीएलपी प्रदेश महामंत्री गौतम बारी, सीएलयू के नेता प्रकाश कुमार महतो, होटल इंप्लाइज यूनियन के नेता संजय चौधरी, चिकित्सा संघ के नेता अमर शर्मा, स्कूल कर्मचारी संघ के महामंत्री सुनीता शर्मा, सीएलयू के जिला कोषाध्यक्ष सविता देवी, 102 एंबुलेंस संघ के नेता अमर सिंह, सुरेश पासवान, अशोक शर्मा, मजदूर संघ इंटक के कार्यकारी अध्यक्ष रामचंद्र सिंह, उपाध्यक्ष दिवाकर चौधरी, जिला इंटक के सचिव प्रभात कुमार सिंह सहित दर्जनों ट्रेड यूनियन और फेडरेशन के साथियों ने सत्याग्रह में कंधे से कंधे मिलाकर जूट मिल खुलवाने के दिशा में आंदोलन को मजबूत करने में साथ देने का घोषणा किया है।

खबरें और भी हैं...