पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

माह-ए-रमजान:सलामती को नन्हे रोजेदार कर रहे अल्लाह की इबादत

कटिहारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिवार के साथ इफ्तार करते नन्हे रोजेदार। - Dainik Bhaskar
परिवार के साथ इफ्तार करते नन्हे रोजेदार।
  • नन्हे रोजेदारों ने कहा- कोरोना वायरस को नष्ट करने के लिए रखा है रोजा, अल्लाह हमारी सुनेंगे

रमजान में बड़ों के साथ छोटे बच्चे भी रोजा रखकर खुदा की इबादत में पीछे नहीं है। मासूम रोजा रखकर पांच वक्त का नमाज अदा कर खुदा का सजदा कर रहे हैं। सेहरी और इफ्तार भी समय पर कर रहे हैं। जिले में सैकड़ों ऐसे बच्चे हैं, जिन्होंने पहली बार रोजा रख नियम का पालन भी कर रहे हैं। ये भूखे-प्यासे रहकर अल्लाह की इबादत कर रहे हैं। 23 रमजान के मौके पर हाफिज मार्केट में फिरोज अहमद कुरेशी कहते हैं कि रहमत और बरकत का महीना माह-ए- रमजान घर के लाेगों में इबादत के लिए जुनून पैदा करता है, इसलिए बच्चे भी इबादत में हमेशा बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। इस बार छोटे बच्चे रोजा रखकर कोरोना को दूर भगाने व अमन-चैन के लिए दुआ कर रहे हैं। मौलाना सिकंदर रजा ने बताया कि 5 वर्ष या उससे बड़े बच्चे रोजा रखते है, तो उन्हें अल्लाह की नजदीकी जल्दी मिल जाती है। बच्चों के रोजा रखने का पुण्य उनके माता-पिता को मिलता है। इस आयु में ही उनमें अल्लाह के प्रति विश्वास उनके भविष्य के लिए बेहतर है।

रोजेदारों ने साझा किया अपना अनुभव, बोली- अल्लाह खुश होते हैं
रोजेदार 12 वर्षीय रिदा हुरिया कुरेशी ने कहा कि रमजान में रोजा रखने से अल्लाह खुश होते हैं। रोजा सभी काे रखना चाहिए। इससे पॉजिटिव एनर्जी मिलती है। रोजा रख कोराेना को दूर करने के लिए अल्लाह ताला से दुआ कर रहे है। उन्होंने लोगों से गुजारिश की कि सरकार और प्रशासन के आदेश को माने और मास्क का उपयोग करें। 9 वर्षीय अतीका प्रवेज ने कहा कि रमजान का महीना काफी अहम होता है। हम इस महीने का बेसब्री से इंतेजार कर रहे थे। सेहरी और इफ्तार करने से रोजेदार को ताकत मिलती है। कोरोना को दूर भगाने व देश की अमन चैन के लिए दुआ कर रही हूं।

हम जीतेंगे कोरोना को हरा ही लेंगे
7 वर्षीय मो अरजान और 10 वर्षीय तैयब अली ने कहा की रोजा रखने से दिल को सुकून मिलता है। इसलिए रोजा रख रहा हूं। सभी को रमजान माह में रोजा रखना चाहिए। नन्हे रोजेदारों ने कहा कि देश जिस कोरोना महामारी से जूझ रहा है। इसको नष्ट करने के लिए रोजा रखा हूं। अल्लाह ताला इस बीमारी को जरूर नष्ट करेगा। हम जीतेंगे, कोरोना हारेगा।

खबरें और भी हैं...