विरोध:जातिगत जनगणना से गरीब व वंचित समाज के उत्थान का मार्ग होगा प्रशस्त: डॉ. चक्रपाणि

कटिहार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार को मार्च में शामिल राजद प्रदेश महासचिव, पूर्व विधायक, जिलाध्यक्ष व नेता। - Dainik Bhaskar
शनिवार को मार्च में शामिल राजद प्रदेश महासचिव, पूर्व विधायक, जिलाध्यक्ष व नेता।
  • जातीय जनगणना व आरक्षण को ले राजद ने निकाला जुलूस, समाहरणालय के समक्ष किया प्रदर्शन

राजद शिष्टमंडल ने एक मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं ने जातीय जनगणना कराने, आरक्षण का बैकलॉग भरने की व्यवस्था कराने एवं बीपी मंडल कमीशन के सभी अनुशंसाओं को लागू करने आदि की मांग को लेकर समाहरणालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया। शहर के जीआरपी चौक से दर्जनों नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पैदल मार्च जुलूस निकालकर मिरचाईबाड़ी, हनुमान मंदिर होते हुए समाहरणालय में जुलूस समाप्त किया। धरना प्रदर्शन के पश्चात एक मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा गया। राजद प्रदेश महासचिव सह कटिहार जिला प्रभारी डॉ. चक्रपाणि हिमांशु ने कहा कि सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी का विरोध प्रदर्शन शानदार, जानदार और दमदार रहा। उन्होंने कहा कि जातिगत जनगणना होने से जात-पात की राजनीति नहीं, बल्कि उपेक्षित, गरीब व वंचित समाज के उत्थान का राह प्रशस्त होगा। यह अत्यावश्यक सकारात्मक प्रगतिशील कदम है। सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक व राजनीतिक पिछड़ापन एक बीमारी है। इसलिए जातीय जनगणना देश के विकास एव समाज के वंचित और उपेक्षित समूहों के उत्थान के किए अति जरूरी है। डॉ. हिमांशु ने कहा कि विश्व के लगभग हर लोकतांत्रिक देश में समाज की बराबरी, उन्नति, समृद्धि, विविधता और उसकी वास्तविक सच्चाई जानने के लिए जनगणना होती है। सरकार हर धर्म के आंकड़े जुटाती है। इसी प्रकार अगर हर जाति के भी विश्वसनीय आंकड़े जुट जाएंगे तो उसी आधार पर हर वर्ग और जाति के शैक्षणिक आर्थिक उत्थान, कार्य पालिका, विधायिका सहित अन्य क्षेत्रों में समान प्रतिनिधित्व देने वाली न्यायपूर्ण नीतियां बनाई जा सकेंगी। उसी अनुसार बजट का भी आवंटन किया जा सकेगा। जिलाध्यक्ष अब्दुल गनी ने बताया कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के आह्वान पर एवं राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के निर्देश पर पूरे देश में जातीय जनगणना कराने, आरक्षण का बैकलॉग भरने की व्यवस्था करने एवं बीपी मंडल कमीशन के सभी अनुशंसाओं को लागू करने के लिए प्रदेशव्यापी धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम के तहत जिला राष्ट्रीय जनता दल के द्वारा भी जिले के तमाम नेता, कार्यकर्ता, प्रखंड अध्यक्ष, पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक, जिला राजद के तमाम पदाधिकारी, विभिन्न प्रकोष्ठ के अध्यक्ष, पदाधिकारीगण ने धरना-प्रदर्शन में पार्टी का झंडा, बैनर, पोस्टर एवं हाथों में तख्ती लेकर धरना-प्रदर्शन किया।

बाइक जुलूस में शामिल पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री व राजद कार्यकर्ता।
बाइक जुलूस में शामिल पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री व राजद कार्यकर्ता।

जातीय आधार पर अनिवार्य रूप से केंद्र सरकार कराए जनगणना: लाखो यादव
राजद नेता लाखो यादव ने बताया कि 7 अगस्त 1990 को तत्कालीन जनता दल की सरकार ने 1931 की जनगणना के आंकड़ों के आधार पर तैयार किए गए बीपी मंडल कमीशन की सिफारिशों को लागू किया था। जिसे लागू करने के लिए राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव एवं उस समय के समाजवादी नेता ने वर्षों संघर्ष किया था। राजद युवा जिला अध्यक्ष राजेश यादव ने बताया कि 7 अगस्त 1990 को मंडल कमीशन की सिफारिश लागू होने के बाद दलितों, पिछड़ों, वंचित, शोषित समाज, दबे कुचले तबके की जिंदगी में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने का बहुत बड़ा मील का पत्थर बना। राजद नेता समरेंद्र कुणाल ने कहा 1931 की जनगणना के 90 वर्ष बीत जाने के बाद सभी जाति व वर्ग के लोगों की संख्या एवं अनुपात में काफी परिवर्तन हुआ है। इस बात को ध्यान में रखते हुए एक बार फिर से 2021 की जनगणना जातीय आधार पर अनिवार्य रूप से केंद्र सरकार को हर हाल में करना चाहिए। पूर्व शिक्षा राज्य मत्री डॉ रामप्रकाश महतो ने कहा कि बहुजन समाज वक्त के साथ और पिछड़ता चला जाएगा। एससी, एसटी, ओबीसी समाज का केंद्र एवं राज्य सरकार की सेवाओं में 50 से 80 फीसदी पदों की रिक्तियां है। जिसे सरकार को अविलंब भरकर मंडल आयोग की समस्त सिफारिशों को पूरे देश में अविलंब लागू करना चाहिए।

विफलताओं को बताया
प्रदर्शन को सफल बनाने को लेकर डॉ रामप्रकाश महतो ने यज्ञशाला मैदान से मोटरसाइकिल जुलूस निकाली। जिसमें दर्जनों की संख्या में राजद के नेता व कार्यकर्ता शामिल थे। इस धरना प्रदर्शन में प्रदेश महासचिव जिला प्रभारी चक्रपाणि हिमांशु, पूर्व विधायक नीरज कुमार, भोला पासवान, मीडिया प्रभारी विजय पोद्दार, प्रदेश उपाध्यक्ष तारकेश्वर ठाकुर, पंचायती राज प्रदेश उपाध्यक्ष विजय यादव, युवा नगर अध्यक्ष बासुलाल, नदीम इकबाल, अंशु पांडे, मिथिलेश यादव, गोपाल यादव, बच्चु भट्टाचार्य, अजहर शेख, मजहर आलम, विनोद सिंह सहित दर्जनों की संख्या में राजद कार्यकर्ता थे।

खबरें और भी हैं...