पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

साहित्य की दशा और दिशा पर परिचर्चा आयोजित:सोशल मीडिया से रचनाकारों को अभिव्यक्ति का माध्यम मिला

कटिहार11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

काशी काव्य संगम बिहार इकाई द्वारा प्रदेश अध्यक्ष मनोज राय की अध्यक्षता में वर्तमान परिप्रेक्ष्य में साहित्य की दशा और दिशा विषय पर एक परिचर्चा आयोजित की गई। इस अवसर पर मुख्य अतिथि और राष्ट्रीय अध्यक्ष अखलाक भारतीय ने कहा कि हर दौड़ में साहित्यकारों के समक्ष अलग अलग चुनौतियां रही है लेकिन वर्तमान समय में सोशल मीडिया ने रचनाकारों और लेखकों को अभिव्यक्ति का एक सशक्त माध्यम दिया है। हमें साहित्य की बेहतरी के लिए ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया के सदुपयोग करना चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष मनोज राय ने लिखने और पढ़ने की प्रवृत्ति के ह्रास पर चिंता जताते हुए कहा कि साहित्य समाज का दर्पण होता है और जो लोग अपने इतिहास को भूल जाते हैं, इतिहास गवाह है कि उनका भूगोल भी एक दिन बदल जाता है। प्रदेश संयोजक निधि चौधरी और संयुक्त सचिव विवेक गुप्ता ने कलमकारों को अपने शब्दों के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव का वाहक बताया और इसके लिए डिजिटल मीडिया को आज के साहित्यकारों के एक बड़ा वरदान बताया। प्रदेश सचिव विपिन कुमार चौधरी ने वर्ष के अंत तक संगठन का पूरे प्रदेश में विस्तार कर नए लिखने वाले युवाओं को मंच उपलब्ध कराने पर जोड़ दिया। प्रदेश मीडिया प्रभारी पत्रकार जितेंद्र जायसवाल और शायर अब्दुल बारी ने साहित्य के उत्थान हेतु सभी बुद्धिजीवियों को मिलकर कार्य करने पर जोर दिया। सभी लोगों ने एक स्वर में इस प्रकार के आयोजन लगातार करने पर भी जोर दिया। शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह, बरारी विधायक विजय सिंह आदि ने इस प्रकार के आयोजन की काफी प्रशंसा की है।

खबरें और भी हैं...