पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चुनाव:~2500 में भैंस किराए पर ले नामांकन को पहुंचे, अब स्कॉर्पियो से करेंगे प्रचार

कटिहार14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भैंस पर सवार होकर नामांकन कराने पहुंचने के बाद चर्चा में आए मुखिया प्रत्याशी आजाद आलम उर्फ गाडू

भैंस पर सवार होकर शनिवार को नामांकन करने आए मुखिया प्रत्याशी खूब चर्चा में हैं। लेकिन पर्दे के पीछे की कहानी कुछ ओर ही है। दरअसल रामपुर पंचायत से मुखिया प्रत्याशी आजाद आलम उर्फ गाडू ने मिलकी टोला निवासी पशुपालक श्यामलाल महतो से भैंस 2500 रुपए में किराए पर लेकर पहुंचे थे। पशुपालक ने बताया कि बदले में उसे ढाई हजार रुपए मिला। प्रत्याशी ने उसे कहा था कि फोटो खिंचवाने के बाद उसे भैंस लौटा दी जाएगी।

रामपुर से प्रखंड मुख्यालय की दूरी 10 किलोमीटर
रामपुर से प्रखंड मुख्यालय से की दूरी 10 किमी है। चर्चा है कि प्रत्याशी घर से बाइक से निकले और प्रखंड आने के बाद भैंस पर सवार हुए। नाम नहीं छापने की शर्त पर कई लोगों ने कहा कि उन्हें भैंस पर सवार होते देखे हैं। रिपोर्टर के पूछने पर प्रत्याशी कहा था कि पेट्रोल-डीजल की कीमत में वृद्धि से वाहन का उपयोग नहीं किया। पेशे से किसान व पशुपालक हैं। भैंस पालते हैं, दूध पीते हैं और सवारी भी करते हैं। वाहन के लिए ईंधन का पैसा नही हैं। इसलिए भैंस पर नामांकन कराने पहुंचे। प्रचार-प्रसार के बारे में कहा कि उनके पास एक स्कॉर्पियो और तीन बाइक है। स्कॉर्पियो से ही प्रचार करेंगे।

स्कॉर्पियो से आते तो ईंधन का खर्च 200 रुपए आता तो महंगाई में 2500 खर्च क्यों
आजाद आलम अगर दस किमी दूर प्रखंड कार्यालय स्काॅर्पियो से नामांकन कराने जाते तो ईंधन में 200 रुपए खर्च आता, तो फिर इस महंगाई में 2500 रुपए खर्च करने की क्या जरूरत थी। इससे साफ होता है कि आजाद चर्चा में रहने के लिए भैंस पर नामांकन के लिए पहुंचे थे। बहरहाल मुखिया प्रत्याशी आजाद आलम की मंशा कुछ भी हो लेकिन भैंस ने चंद मिनटों में अपने मालिक को ढाई हजार का लाभ जरूर दिलवा दी।

प्रत्याशी ने 2500 रुपए दिए

^उक्त प्रत्याशी द्वारा ढाई हजार रुपए देते हुए कहा गया कि अपनी भैंस दीजिए नामांकन का फोटो करवाने के बाद आपको भैंस लौटा दी जाएगी। इसके एवज में 2500 रुपए भैंस का किराए के रूप में दिया गया है।
श्यामलाल महतो, पशुपालक, रामपुर पंचायत मिलकी टोला

खबरें और भी हैं...