कोरोना की तीसरी लहर:होम आइसोलेशन में हरेक दूसरे दिन होगी जांच

कटिहार16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड को लेकर की गई तैयारियों की निरीक्षण करते डीपीआरओ, बीडीओ व अन्य। - Dainik Bhaskar
कोविड को लेकर की गई तैयारियों की निरीक्षण करते डीपीआरओ, बीडीओ व अन्य।
  • जिलाधिकारी ने काेराेना संक्रमण ने निपटने के लिए कोविड से जुड़े तंत्रों को एक्टिव मोड में रहने के दिए निर्देश

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्राॅन एवं कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए डीएम उदयन मिश्रा ने जिले में इससे निपटने के लिए कोरोना जांच, टीकाकरण एवं कोविड प्रबंधन जुड़े सभी तंत्रों को एक्टिव मोड में रखने का निर्देश दिया है। डीएम ने निर्देश में कहा कि कटिहार जिला में कोविड प्रबंधन के निमित्त सदर अस्पताल तथा अनुमंडल अस्पताल में नियंत्रण कक्ष हेल्पलाइन नम्बर 18003456618 संचालित किया जा रहा था। कोविड-19 के वर्तमान परीपेक्ष्य में नियंत्रण कक्ष का प्रभावी क्रियान्वयन के आवश्यकता को देखते हुए सदर अस्पताल एवं अनुमंडल स्तर पर नियंत्रण कक्ष को पुनः संचालित करते हुए एक्टिव मोड में रखने, नियंत्रण कक्ष में प्रतिनियुक्त कर्मी के माध्यम से होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों का दैनिक रूप से स्वास्थ्य स्थिति की जानकारी प्राप्त कर पंजी में संधारित करने, विभागीय निर्देश के आलोक में होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों के पास एक दिन छोड़कर दूसरे दिन में मेडिकल टीम भेजकर उनके स्वास्थ्य की जांच, मेडिकल टीम द्वारा चिकित्सा सुविधा प्रदान करने, मेडिकल टीम द्वारा चिकित्सा सुविधा प्रदान के दौरान यदि गंभीर लक्षण परिलक्षित होते हो तो ऐसी स्थिति में लक्षण परिलक्षित होने वाले व्यक्तियों को डीसीएचसी में भर्ती कराने हेतु सिविल सर्जन को निर्देश दिया गया।

नोडल एवं वरीय पदाधिकारी को माॅक-ड्रिल का निर्देश
डीएम ने कोविड प्रबंधन व्यवस्था को सुचारू रूप से एक्टिव मोड में रखने हेतु सभी प्रखंड से संबद्ध नोडल एवं वरीय पदाधिकारी को माॅक-ड्रिल (पूर्वाभ्यास) के निर्धारित तिथि को अपने प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के साथ क्षेत्र अंतर्गत सभी स्वास्थ्य केंद्रों का कोविड-19 से बचाव और उपचार संबंधी सुविधा का निरीक्षण करने एवं निरीक्षण के क्रम में स्वास्थ्य केंद्रों में बेड/ दवाइयां/ कोविड-19 के जांच कीट/ टीका इत्यादि की उपलब्धता से संबंधित प्रतिवेदन तक उपलब्ध कराने हेतु निदेश दिया गया। निरीक्षण के दौरान स्वस्थ केंद्र जहां ऑक्सीजन प्लांट अधिष्ठापित किया गया है वहां प्लांट की स्थिति, प्लांट सुचारू ढंग से कार्य कर रहा है अथवा नहीं प्लांट का रख-रखाव सही ढंग से हो रहा है या नहीं आदि के संदर्भ में अवलोकन प्रतिवेदन उपलब्ध कराने हेतु निदेश दिया गया।

टीकाकरण महाअभियान आज
डीएम ने कहा कि 15 से 17 वर्ष के किशोर किशोरियों का टीकाकरण वर्तमान में सरकार का सर्वोच्च प्राथमिकता है। जिला प्रशासन को स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिये लक्ष्य को पूर्ण कराने के उद्देश्य से टीकाकरण महाअभियान 8 जनवरी को निर्धारित किया गया है। टीकाकरण अभियान को सफल बनाने हेतु सभी नामित नोडल पदाधिकारी को संबंध प्रखंडों में ही कैंप करने, 15 से 17 वर्ष के किशोर-किशोरियों को अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण हेतु पर्यवेक्षण करने, नामिक संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से संपूर्ण दिवस में समन्वय स्थापित रख कर अधिक से अधिक किशोर-किशोरियों का टीकाकरण करवाने हेतु निर्देशित किया।

तीसरी लहर व ओमिक्रॉन से लड़ने की तैयारियों का लिया जायजा

डंडखोरा | डंडखोरा प्रखंड के प्रभारी वरीय पदाधिकारी सह जिला पंचायतीराज पदाधिकारी रोजी कुमारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर कोवीड-19 संक्रमण के ओमिक्रॉन वेरिएंट के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा की गई तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी अहमर अब्दाली, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ. प्रदीप कुमार, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक अनवार आलम से प्रखंड क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधा तथा कोविड-19 की तैयारियों को लेकर आवश्यक पूछताछ की। बीएचएम ने सामान्य टीकाकरण, कोविड-19 को लेकर की गई आईसोलेशन की व्यवस्था, आक्सीजन कंसंट्रेशन मशीन उपलब्धता, संभावित दवाई की उपलब्धता, टीकाकरण की उपलब्धता के साथ उच्च विद्यालयों में 15-17 आयु वर्ग के किशोर एवं किशोरियों को दिये टीकाकरण संचालित होने की जानकारी दी। इस दौरान डीपीआरओ ने आइसोलेशन वार्ड, आक्सीजन सिलेंडर तथा कंस्ट्रक्शन मशीन व दवा भंडार का निरीक्षण किया। व्यवस्था से संतुष्ट डीपीआरओ ने 8 जनवरी को आयोजित होने वाले टीकाकरण को लेकर वेरिफायर तथा पंचायत वार नोडल पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की जानकारी ली।

नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों को जन जागरूकता अभियान में शामिल करने का निर्देश

पंचायत स्तर पर जन जागरूकता का प्रभावी क्रियान्वयन के लिए नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों को जन जागरूकता अभियान में शामिल कर उनके सहयोग से ज्यादा से ज्यादा व्यक्तियों को जागरूक कर काेराेना संक्रमण से बचाव हेतु कोविड अनुकूल व्यवहार एवं मानक संचालन प्रक्रिया का अनिवार्य अनुपालन कराने हेतु सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी हेतु निदेशित किया गया।

खबरें और भी हैं...