• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Katihar
  • In Katihar, The Monitoring Department Lodged An FIR Against The Teacher, It Was Found In The Investigation That The Teacher Is The Tenth Failure.

फर्जी डिग्री पर 10 साल से नौकरी कर रहे गुरुजी:कटिहार में निगरानी विभाग ने शिक्षक पर दर्ज कराई FIR, जांच में पता चला खुद है 10वीं फेल

कटिहारएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षक पप्पू मंडल की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
शिक्षक पप्पू मंडल की फाइल फोटो।

कटिहार में भी निगरानी विभाग ने फर्जी डिग्री के आधार पर बहाल हुए एक शिक्षक पर कार्रवाई की है। निगरानी विभाग द्वारा जांच के दौरान प्राणपुर थाना में विभाग के DSP मिथिलेश कुमार जायसवाल की लिखित शिकायत पर प्राथमिक विद्यालय तेली टोला के शिक्षक रहे पप्पू मंडल के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है।

फर्जी मैट्रिक सर्टिफिकेट देकर पाई नौकरी

शिक्षक पप्पू मंडल पर आरोप लगाया गया है, 'नियोजन के समय 2000 में मैट्रिक के अंक पत्र में द्वितीय श्रेणी तथा कुल अंक 337 प्राप्त दिखाया गया था। जिसका अंकपत्र 2012 के नियोजन के समय जमा कराया गया था। जबकि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना द्वारा सत्यापित मांगे गए प्रतिवेदन में उन्हें 285 अंक तथा श्रेणी फेल बताया गया था।'

निगरानी की जांच में पाया गया कि शिक्षक का कागजात पूरी तरह फर्जी हैं। पप्पू मंडल ने सरकार के आंख में धूल झोंककर शिक्षक की नौकरी प्राप्त कर ली है। इसके कारण कई सुसंगत धाराओं के तहत प्राणपुर थाने में निगरानी विभाग ने FIR दर्ज कराई है। मामला दर्ज होने के बाद पप्पू मंडल छुट्टी का आवेदन देकर स्कूल से फरार हो गए हैं।

इस मामले को लेकर कटिहार जिला शिक्षा पदाधिकारी कामेश्वर प्रसाद गुप्ता ने बताया, 'अभी इस तरह का मामला हमारे संज्ञान में नहीं आया है। निगरानी विभाग का पत्र आने के बाद नियोजन इकाई को सेवा निरस्तीकरण के लिए तथा राशि वसूली के लिए लिखा जाएगा। साथ ही आरोपित शिक्षक के ऊपर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।'

खबरें और भी हैं...