पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश:राहुल यादव हत्याकांड के विरोध में 3 घंटे कटिहार-मनिहारी मार्ग किया जाम, प्रदर्शन

कटिहार8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को पीएनटी चौक पर प्रदर्शन करते मृतक के परिजन व अन्य लोग। - Dainik Bhaskar
रविवार को पीएनटी चौक पर प्रदर्शन करते मृतक के परिजन व अन्य लोग।
  • 4 जून को राहुल को मारी गई थी गोली, सिलिगुड़ी में हुई थी मौत
  • पुलिस ने माना-राहुल यादव पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं था पृथ्वी यादव के परिजनों ने मारी गोली, सभी फरार, जल्द होगी गिरफ्तारी

राहुल हत्याकांड के विरोध में रविवार को परिजन और स्थानीय लोगों ने सहायक थाना क्षेत्र के पीएनटी चौक कटिहार-मनिहारी मार्ग को 3 घंटे जाम कर प्रदर्शन किया। परिवार के लोगों ने सीधे तौर पर अपराधियों के साथ पुलिस के गठजोड़ का आरोप लगाया। कहा कि जिन पर हत्या का आरोप है। उन लोगों पर राहुल के परिजनों ने तीन महीना पूर्व भी मामला दर्ज करवाया था। उस समय संगीन मामले के बावजूद पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। अब वही अपराधियों ने राहुल की जान ले ली। परिजनों का आरोप है पुलिस बेवजह राहुल के मौत के बाद उसे कई मामले का आरोपी बता रहा है। जिससे उन लोगों को बहुत ठेस पहुंचा है। वहीं पुलिस ने बताया कि राहुल पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। पुलिस ने आक्रोशित लोगों को काफी मशक्कत के बाद समझाकर जाम खत्म कराया। पुलिस ने कहा कि हत्याकांड के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। बता दें कि 4 जून को सहायक थाना क्षेत्र के मैथिल टोला में देर शाम पुराने विवाद को में राहुल यादव को गोली मारी गई थी। जिसके बाद इलाज के दौरान सिलिगुड़ी में मौत हो गई थी।

पुलिस राहुल के परिजनों के साथ है, जल्द कार्रवाई होगी
राहुल पर कोई भी आपराधिक घटना का मुकदमा नहीं है। मारपीट का केस पूर्व में था। स्व. पृथ्वी यादव के परिजनों के साथ राहुल का विवाद था। इस विवाद को लेकर उनके परिजन के द्वारा राहुल को गोली मारी गई थी। कटिहार प्रशासन राहुल और उनके परिजनों के साथ है। कटिहार पुलिस अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी कर सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी।
रंजन कुमार सिंह, सर्किल इंस्पेक्टर

नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर फूटा गुस्सा
बरमसिया के राहुल यादव के सिर में सामने से गोली लगी जो पार हो गई। दूसरी गोली लोहिया नगर के तुषार सिंह को लगी थी। लेकिन इस घटना में राहुल यादव गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। गंभीर स्थिति में सिलीगुड़ी रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान राहुल की मौत हो गई। घटना को लेकर मृतक राहुल के भाई अनिल यादव ने बताया कि 3 माह पहले इस विवाद को लेकर पुलिस के पास आवेदन दिया गया था। लेकिन पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। जिसके कारण राहुल की मौत हो गई। राहुल के शव को सिलीगुड़ी से कटिहार लाया गया। जहां उनके दर्जनों चाहने वाले लोग घर पहुंच गए। 2 दिन बीत जाने के बाद भी नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर उनके परिजन और चाहने वालों का आक्रोश फूट पड़ा।

खबरें और भी हैं...