कोरोना रिपोर्ट के निगेटिव-पॉजिटिव के चक्कर में गई जान:कटिहार सदर अस्पताल में 3 घंटे बरामदे में रही मरीज, इलाज नहीं हुआ तो गई जान

कटिहार8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मौत के बाद अस्पताल के बरामदे पर पड़ा शव। - Dainik Bhaskar
मौत के बाद अस्पताल के बरामदे पर पड़ा शव।

कोरोना रिपोर्ट के निगेटिव और पॉजिटिव के चक्कर में कटिहार में एक महिला की जान चली गई। सदर अस्पताल में एक वृद्ध महिला का इलाज 3 घंटे तक सिर्फ इसलिए नहीं हुआ, क्योंकि उसकी कोविड जांच रिपोर्ट नहीं आई थी। इस दौरान वह अस्पताल के बरामदे पर पड़ी रही।

गुरुवार को दोपहर में गौशाला निवासी बिरजू अपनी बीमार पत्नी रीता देवी को लेकर सदर अस्पताल पहुंचा। ड्यूटी कर रहे डॉक्टर ने इलाज से पूर्व कोविड जांच का हवाला दिया । मरीज रीता देवी की कोविड जांच कराई गई। जांच के बाद नर्स ने रीता देवी की रिपोर्ट निगेटिव बताई । लेकिन आधे घंटे बाद ही ट्रूनेट जांच के दौरान उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टरों ने उस मरीज को छूना तक जरूरी नहीं समझा।

मरीज की मौत के बाद परिजनों ने सदर अस्पताल की लापरवाही के बाद अस्पताल अधीक्षक डॉ आशा शरण के कार्यालय में जमकर हंगामा किया। हंगामा बढ़ते देख डॉ आशा शरण एवं मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर एसएन ठाकुर ने कोरोना जांच में तकनीकी त्रुटि का हवाला दिया।

खबरें और भी हैं...