हंगामा:बीसीजी का टीका लगते 2 घंटे में नवजात की मौत

कदवा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सागरथ पंचायत अंतर्गत वसंतपुर गांव का मामला, परिजनों ने किया हंगामा, आक्रोश

कदवा थाना क्षेत्र के सागरथ पंचायत अंतर्गत वसंतपुर गांव में बीसीजी का टीका लगाने के कुछ देर बाद दो दिन के नवजात शिशु की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने जांच कराए जाने के लिए बीसीजी टीका को सुरक्षित कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार बसंतपुर गांव निवासी सविता देवी इसी गांव में अवस्थित आंगनबाड़ी केंद में अपने दो दिन के नवजात शिशु को बीसीजी का टीका दिलाने आई थी। टीका देने के लगभग दो घंटे बाद बच्चे की मौत हो गई। बच्चे के मौत हो जाने के बाद परिजनों सहित ग्रामीण आक्रोशित हो गए। वहीं उक्त घटना को लेकर ग्रामीणों द्वारा एएनएम का घेराव कर इस आशय की जानकारी चिकित्सा प्रभारी डॉ एचएन राय एवं स्थानीय थाना को दिया। जानकारी मिलते ही चिकित्सा प्रभारी एचएन राय पुलिस बल के साथ घटना स्थल बसंतपुर गंव पहुंच कर मामले की जांच करते हुए परिजन सहित ग्रामीणों को समझा बुझाकर शान्त कराया एवं बीसीजी टीका को सुरक्षित कर जांच के लिए भेज दिया।

बिना जांच के ही दिया गया टीका | घटना को लेकर मृतक नवजात शिशु की मां सविता देवी ने कहा कि शुक्रवार की दोपहर दो बजे अपने बच्चे को आंगनबाड़ी केंद में बीसीजी का टीका लगवाने आये थे। लगभग दो बजे मेरे बच्चे को बीसीजी का टीका एनएम द्वारा दिया गया। सुई देने के दो घंटे बाद मेरी बच्चे की मौत हो गई। एनएम द्वारा बीसीजी का टीका देने के क्रम में बच्चे की किसी भी प्रकार की जांच नही की गई और बच्चे को टीका दे दिया। जिससे मेरी बच्चे की जान चली गई।

बैच नंबर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा
टीका के बैच नंबर व लॉट नंबर को सुरक्षित कर लिया गया है। उसे जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चलेगा। -डॉ एचएन राय, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी।

15 वर्षीय बच्चे की नदी में डूबने से हो गई मौत

आजमनगर | प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत कुंभनिया नदी में पैर फिसलने से 15 वर्षीय बच्चे की डूबने से मौत हो गई। घटना अमर सिंहपुर पंचायत के राघोल बसंतपुर गांव की है। जानकारी के अनुसार शनिवार की अहले सुबह खेत में काम करने गए मोहम्मद शकील के 15 वर्षीय मोहम्मद नाजिम की खेत के निकट बह रही कुमनहींयां नदी में पैर फिसल कर डूबने मौत हो गई। काफी समय बीत जाने के बाद घर नही लौटने पर नाजिम की खोजबीन होने लगी। गांव के लोग नदी में खोजने लगे। लगातार तीन घंटो खोजबीन करने के बाद नाजिम की शव बरामद की जा सकी। घटना की सूचना अंचल पदाधिकारी संजय कुमार को दी गई। साथ ही आजमनगर पुलिस भी सूचना पर मौके पर पहुंच जांच पड़ताल में जुट गई।

खबरें और भी हैं...