सनसनी:एक ने पत्नी से विवाद में तो दूसरे ने शादी नहीं होने पर फांसी लगाकर की आत्महत्या

कटिहारएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
तीनगछिया में मृतक के घर पर लगी ग्रामीणों की भीड़। - Dainik Bhaskar
तीनगछिया में मृतक के घर पर लगी ग्रामीणों की भीड़।
  • पहली घटना नगर थाना के तीनगछिया और दूसरी मनसाही के कुरेठा पिंडा की है
  • तीनगछिया में पुलिस को सूचना दिए बिना शव का कर दिया दाह संस्कार

जिले में दो अलग-अलग जगहों पर युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पहली घटना नगर थाना क्षेत्र के तीनगछिया की है। जहां पत्नी के विवाद में युवक ने फांसी लगा ली। वहीं, दूसरी ओर मनसाही के कुरेठा पिंडा में शादी नहीं होने से डिपरेंशन में आकर युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पहली घटना में परिजन ने पुलिस को सूचना दिए बिना शव का दाह संस्कार कर लिया तो दूसरी घटना में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद परिजन को सौंप दिया गया।   नगर थाना क्षेत्र के तीनगछिया मोहल्ला निवासी सत्यनारायण साह का 25 वर्षीय पुत्र अमित साह ने अपने ही पड़ोस की लड़की से ढ़ाई वर्ष पूर्व प्रेम विवाह किया था। 
अमित को एक पुत्र भी है। दो दिन पूर्व अमित की पत्नी मामूली विवाद को लेकर बगल के मायके चली गई थी। दो दिन बाद पति अमित अपने पत्नी को मनाने के लिए ससुराल गया था। लेकिन ससुराल में पत्नी और साला से फिर विवाद हो गया। अमित वापस अपने घर आया और मंगलवार को दोहपर में अपने कमरे में जाकर पंखा के हुक में फांसी लगा जान दे दी। 
मां और भाई को बार-बार शादी के लिए बोल रहा था धीरज 
मनसाही थाना के कुरेठा पिंडा निवासी 28 वर्षीय धीरज सिंह ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर लिया। मृतक धीरज के भाई पिंटू सिंह ने बताया कि उसका भाई मजदूरी का कार्य करता था। किसी से कोई विवाद नहीं हुआ था। वे रोजाना की तरह रविवार को शाम मे आया और खाना खाकर सो गया। सोमवार की सुबह जब धीरज नहीं उठा तो उसके परिजन ने कमरा को खोलना चाहा लेकिन कमरा अंदर से बंद था। बहुत आवाज लगाने के बाद भी नहीं खुलने पर उनके परिजनों ने कमरा का दरवाजा तोड़ दिया। परिजनों ने देखा कि धीरज गमछे के फंदे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। बाद में पुलिस को सूचना दी गयी। हालांकि स्थानीय लोगो ने बताया कि धीरज कुछ दिन से फ्रस्टेशन में रहा करता था। क्योंकि वे अपनी मं और भाई को शादी कराने के लिए बोल रहा था। उसकी शादी नहीं हो रही थी इसलिए वह डिप्रेशन में था।

थानाध्यक्ष बोले-मृतक के परिजनों पर होगी कार्रवाई 
तीनगछिया मोहल्ला निवासी सत्यनारायण ने बताया कि सभी लोग अमित को ढूंढ रहे थे। काफी देर खोजने के बाद नहीं मिला तो देखा कि अमित का कमरा बंद है। किसी तरह कमरा के दरवाजे को तोड़ा गया तो अमित फांसी के फंदे से लटक रहा था। आनन-फानन में घरवालों ने उसे उतारा लेकिन तबतक अमित की मौत हो चुकी थी। स्थानीय लोगों ने पुलिस को बिना सूचना दिए शव का दाह संस्कार कर दिया। इस संबंध में नगर थानाध्यक्ष रंजन कुमार ने बताया कि उसे इस मामले की जानकारी नहीं मिली है। लेकिन अगर इसकी सूचना मिलती है तो और परिजन के द्वारा बिना पुलिस को सूचना दिये शव का दाह संस्कार किया होगा तो निश्चित रूप से कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...