पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पोषण माह:प्राणपुर परियोजना में बच्चों के बीच मटका फोड़ कार्यक्रम का आयोजन

कटिहार18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मटका फोड़ कार्यक्रम में शामिल बच्चे। - Dainik Bhaskar
मटका फोड़ कार्यक्रम में शामिल बच्चे।
  • कुपोषण के खिलाफ लड़ाई के लिए जागरूक करने का हो रहा प्रयास

जिले में संचालित पोषण माह अभियान के दौरान विभिन्न स्तरों पर उचित पोषण संबंधी आदतों को लेकर लोगों को जागरूक व प्रेरित करने का काम किया जा रहा है। कुपोषण के मामलों पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा जरूरी दिशा निर्देश जारी किये गये हैं। इसमें अभियान के दौरान पूरे सितंबर माह में आंगनबाड़ी केंद्र से लेकर परियोजना कार्यालय सहित विभिन्न गांव व पंचायतों में लोगों को पोषण संबंधी जरूरी जानकारी देने के लिये रैली, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, नुक्कड़ नाटक, संगोष्ठी सहित अन्य गतिविधियों का आयोजन किया जाना है। इसे लेकर सोमवार को जिले के प्राणपुर परियोजना के तहत छोटे-छोटे बच्चों के बीच मटका फोड़ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस क्रम में उपस्थित बच्चों के अभिभावकों को पोषण संबंधी जरूरी जानकारी दी गयी। सीडीपीओ माधवी लता की अगुआई में आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रखंड समन्वयक पूजा कुमारी, परियोजना सहायक दिपक दीप, केयर इंडिया व जीविका के प्रतिनिधि सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं मौजूद थी। आईसीडीएस डीपीओ बेबी रानी ने बताया कि पोषण माह के दौरान विभिन्न स्तरों पर उचित पोषण को बढ़ावा देने के लिये विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाना है। शिविर आयोजित कर पीएमएमभीवाई के योग्य लाभुकों से आवेदन लिया जाना है। साथ ही लंबित आवेदनों का निष्पादन किया जाना है। आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से विशेष अभियान का संचालन करते हुए क्षेत्र के सामान्य, कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों को चिह्नित करने के लिये उनका वजन, लंबाई सहित अन्य मानकों की माप इस दौरान किया जायेगा। पोषण परामर्श केंद्र का संचालन किया जायेगा। प्राणपुर परियोजना की सीडीपीओ माधवी लता ने बताया कि डीपीओ आईसीडीएस के निर्देश पर पोषण माह अभियान के दौरान परियोजना कार्यालय स्तर पर विभिन्न जागरूकता गतिविधियों का आयोजन प्रस्तावित है। इसी क्रम में आज मटका फोड़ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कुपोषण मुक्त भारत के निर्माण में अभियान को उन्होंने महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि अभियान विभिन्न चरणों में संचालित किया जाना है। बच्चे, गर्भवती व धात्री महिलाओं के लिये योग सत्र का आयोजन, पोषक क्षेत्र के लाभुकों के बीच पोषण किट का वितरण सहित अन्य गतिविधियों को आयोजन किया जाना है। साथ ही एनीमिया प्रबंधन व इसकी रोकथाम के लिये क्षेत्र में जागरूकता संबंधी विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाना है। जिला पोषण समन्वयक अनमोल गुप्ता ने अभियान के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पोषण माह के दौरान जिले के सभी परियोजना कार्यालय व संबंधित अन्य विभागों की मदद से निर्धारित कैलेंडर के मुताबिक उचित पोषण को बढ़ावा देने के लिये विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जा रही है। आयोजित गतिविधियों को विभागीय निर्देश के मुताबिक विभाग के जन आंदोलन डैशबोर्ड पर किया जा रहा है। महिला पर्यवेक्षिका, प्रखंड समन्वयक, परियोजना सहायक के द्वारा पोषण अभियान से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों की लगातार मॉनेटरिंग की जा रही है। इस क्रम में स्थानीय स्तर पर आसानी से उपलब्ध होने वाले खाद्य पदार्थ के नियमित सेवन के लिये लोगों को प्रेरित व जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है।

मातृत्व वंदना सप्ताह का हो रहा है संचालन
प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के जिला कार्यक्रम सहायक मनीष पोद्दार ने बताया कि पोषण माह के पहले सप्ताह के दौरान सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर मातृत्व वंदना सप्ताह का आयोजन किया गया। इसके तहत विशेष शिविर आयोजित करते हुए योजना के तहत लंबित आवेदनों के निष्पादन, योग्य लाभुकों को प्रेरित करते हुए योजना लाभ के आवेदन प्राप्त करने के साथ-साथ प्राथमिकता के आधार पर दूसरे व तीसरे किस्त के लंबित आवेदनों के निष्पादन के लिये विशेष मुहिम का संचालन किया गया।

खबरें और भी हैं...