पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अभियान:स्टेशन पर भटके बच्चों का रेस्क्यू कर रही आरपीएफ

कटिहार25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में शामिल यूनिसेफ के सदस्य व अन्य। - Dainik Bhaskar
बैठक में शामिल यूनिसेफ के सदस्य व अन्य।
  • बाल सुरक्षा व संरक्षण को ले यूनिसेफ, आरपीएफ, जीआरपी व रेलवे चाइल्डलाइन ने की बैठक

कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए कटिहार जंक्शन में रविवार को स्टेशन अधीक्षक की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें यूनिसेफ, आरपीएफ, जीआरपी एवं रेलवे चाइल्डलाइन ने संयुक्त रूप से बाल सुरक्षा एवं संरक्षण के मुद्दे पर विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया। इस संबंध में जानकारी देते हुए सचिव वेलफेयर इंडिया सह डायरेक्टर रेलवे लाइन कटिहार कल्पना मिश्रा ने बताया कि यूनिसेफ के सहयोग से कटिहार जंक्शन पर प्रवासी मजदूरों, नाबालिग बच्चे बच्चियों, महिलाओं के लिए विशेष कार्यक्रम चलाया जा रहा है। जिससे आपदा की स्थिति में भटके बच्चे बच्चियों और महिलाओं को सुरक्षित एवं संरक्षित किया जा सके। रेल क्षेत्र में यह विशेष कार्यक्रम 31 मई तक चलाया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत लोगों के बीच मास्क, सैनिटाइज, खाद्य सामग्री, पानी इत्यादि का संस्था द्वारा निशुल्क वितरण किया जा रहा है। संस्था द्वारा कई बच्चों को बाल कल्याण समिति के आदेशानुसार बालगृह में एवं उनके परिवार को सुपुर्द किया गया है। मई माह में अब तक कुल 11 बच्चों को रेस्क्यू किया गया है। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे स्टेशन अधीक्षक शैलेंद्र कुमार वर्मा ने बताया कि रेलवे प्रशासन बाल सुरक्षा के मामले में काफी सजग और अलर्ट है। स्टेशन और रेल परिसर में भटकते नाबालिग बच्चे से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी प्राप्त होने पर तुरंत चाइल्डलाइन रेलवे को सूचना दे। वही रेलवे चाइल्डलाइन के समन्वयक प्रदीप कुमार ने लोगों से अपील की है कि अगर कहीं भी ऐसा बच्चा दिखाई दे जिसने अपने मां-बाप को खो दिया है एवं अकेला है तो तुरंत चाइल्डलाइन के टोल फ्री नंबर 1098 पर कॉल करें। ताकि उसे सारी सुविधाएं मुहैया कराई जा सके। ऐसे बच्चों को सुरक्षित एवं संरक्षित किया जा सके। उन्होंने कहा कि आपदा की स्थिति में हमें विशेष सजग रहने की आवश्यकता है ताकि हम बच्चों के ट्रैफिकिंग को रोक सके। उन्होंने कहा कि इस अवधि में दलाल विशेष रूप से सक्रिय होते हैं। जिससे बच्चे ट्रैफिकिंग के शिकार हो जाते है। आयोजित बैठक में चाइल्ड हेल्प लाइन के अधिकारियों के अलावा आरपीएफ के अंकित चौधरी, जीआरपी के ज्योति प्रकाश, सी एम आई जे बी पासवान, सी एच आई पी सी देव के साथ-साथ रेलवे चाइल्डलाइन समन्वयक प्रदीप कुमार, सोनी कुमारी ठाकुर, सुमित कुमार, अभिनंदन पोद्दार, आनंद पोद्दार, तनु कुमारी, दुर्गा कुमारी के साथ-साथ कई रेलवे चाइल्डलाइन एवं यूनिसेफ के सदस्य शामिल थे।

खबरें और भी हैं...