पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नदियां उफान पर:महानंदा और रीगा के कटाव की जद में छह घर, आजमनगर में भी 12 गांव को खतरा

कटिहार10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
केले के थंब की नाव बनाकर आवागमन करते लोग।
  • जलस्तर में उतार-चढ़ाव से 5 प्रखंडों में कटाव की समस्या
  • 2 दिन से महानंदा नदी कारी कोशी और बरंडी का जलस्तर स्थिर

जिले में नदियों के जलस्तर में उतार-चढ़ाव जारी है। कदवा, अमदाबाद, आजमनगर, कुरसेला और मनिहारी में कटाव की समस्या उत्पन्न हो गई है। पिछले 15 दिन के अंदर अमदाबाद में गंगा और महानंदा के कटाव के जद में तीन दर्जन परिवार का घर नदी में समा चुका है। जबकि कदवा में महानंदा और रीगा नदी के कटाव के जद में 6 परिवार और आजमनगर में 12 गांव महानंदा के कटाव के मुहाने पर है, जिससे लोगों में दहशत व्याप्त है। कुरसेला में कोसी नदी का भी कटाव जारी है। यहां किसानों के खेत कटकर नदी में समा रहे हैं। हालांकि इस दौरान सभी स्थानों पर महानंदा, डुम्मर में बरंडी और कुरसेला में कोसी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। लेकिन राहत की बात यह है कि पिछले 2 दिनों से महानंदा, कारी कोशी और बरंडी नदी धीमी गति से घट रही है। जबकि 3 दिनों से कुरसेला में कोसी नदी स्थिर बनी हुई है। गंगा नदी रामायणपुर और काढ़ागोला में 24 घंटे से स्थिर है।

अमदाबाद में कई गांवों में बाढ़ का खतरा, दहशत
अमदाबाद प्रखंड अंतर्गत कई गांव बाढ़ के चपेट में है। वहीं, गंगा नदी एवं महानंदा नदी द्वारा कटाव जारी है। जिसके जद में आकर कई परिवारों का घर नदी में विलीन हो गया है। अमदाबाद प्रखंड के लखनपुर पंचायत के वार्ड संख्या 9 में हॉट खोला के समीप महानंदा नदी द्वारा कटाव जारी है। कटाव के जद में आकर कई परिवारों का घर एवं दुकानदारों का दुकान नदी में विलीन हो गए। पार दियारा पंचायत के सूबेदार टोला, युसूफ टोला, कीर्ति टोला के समीप गंगा नदी द्वारा कटाव जारी है। जिससे दर्जनों परिवार का घर नदी में विलीन हो चुका है। साथ ही प्रखंड के दक्षिणी करीमुल्लापुर के वार्ड संख्या 10 में बसा गांव जिलेबी टोला एवं उत्तरी करीमुल्लापुर पंचायत के वार्ड संख्या 9 में बसे नया चामा टोला गांव पिछले 15 दिनों से बाढ़ के पानी से घिरा हुआ है। लोगों के आंगन घरों में बाढ़ के पानी का प्रवेश हो चुका है। लोगों के समक्ष भोजन, आवास, शुद्ध पेयजल, मवेशी का चारा सहित कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो गई है। बाढ़ पीड़ित परिवार घोर संकट के बीच जीने को विवश हैं।

आजमनगर में भीषण कटाव जारी
आजमनगर में महानंदा के जलस्तर में उतार-चढ़ाव से बांध के किनारे बसे गांवों का अस्तित्व खतरे में है। यहां भीषण कटाव जारी है। इस गांव के लोग पलायन की तैयारी में है। जबकि पहले भी महानंदा के कटाव से सिंघोल पंचायत के औलिया गांव के दो दर्जन से अधिक परिवारों का घर नदी में समा चुका है। लोग कटाव निरोधी कार्य करवाने की मांग की है।

कदवा, डंडखोरा और प्राणपुर के निचले इलाके में पानी बरकरार
मनिहारी में गंगा नदी के जलस्तर में लगातार उतार-चढ़ाव से गंगा के किनारे बस एक गांव के लोगों में काफी दहशत का माहौल है। ग्रामीण रात भर सो नहीं पाते हैं। उन्हें अंदेशा रहता है कि कभी भी बांध पर अगर दबाव पड़ा तो टूटने से अफरा तफरी मच सकती है। ग्रामीणों ने प्रशासन से लगातार बांधों के निगरानी करने की मांग की है। इधर, कदवा प्रखंड के बांध के अंदर बसे पंचायतों में बाढ़ का पानी ज्यों का त्यों है। लोगों को सबसे बड़ी आवागमन की समस्या हो रही है। कई सड़क और डायवर्शन दोस्त हो चुके हैं। पिछले दिनों 6 परिवार का घर महानंदा नदी के कटाव के जद में आकर नदी में विलीन हो गया है। वहीं, डंडखोरा और प्राणपुर के निचले इलाके में भी पानी फैला हुआ है। जिससे पशुपालकों को काफी परेशानी हो रही है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें