पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विरोध:स्टेशन मास्टर ने मोमबत्ती जलकर किया प्रदर्शन

कटिहार4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवार को मोमबत्ती जलाकर विरोध-प्रदर्शन करते स्टेशन मास्टर।
  • नाइट ड्यूटी अलाउंस सीलिंग के नए नियम का विरोध, 31 अक्टूबर से भूख हड़ताल पर जाएंगे

नाइट ड्यूटी अलाउंस सीलिंग के नए नियम के विरूद्ध आल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के बैनर तले एनएफ रेल मंडल कटिहार सहित देश के सभी स्टेशन मास्टर ने अपने अपने स्टेशनों में काम करते हुए मोमबत्ती जला सरकार को विरोध दर्ज कराया है। एसोसिएशन ने केंद्र सरकार और रेल मंत्रालय से नए कानून को रद्द करने की मांग की है। अगर कानून को रद्द नहीं किया जाएगा तो 20 अक्टूबर से काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन होगा और इसके बावजूद भी सुनवाई नहीं हुई तो 31 अक्टूबर से कार्य का संचालन करते हुए सभी स्टेशन मास्टर भूख हड़ताल करेंगे। इस संबंध में आॅल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के मंडल सचिव आकाश दीप ने बताया कि रेलवे बोर्ड के आदेश के अनुसार नाइट ड्यूटी अलाउंस सीलिंग लिमिट बेसिक पे 43600 के आधार पर देने का आदेश जारी किया है तथा इसे विगत वर्ष 2017से लागू करने का निर्णय लिया है। इसको लेकर पूरे देश के सभी स्टेशन मास्टर में तथा सभी रेल कर्मचारियों में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि अगर रेल प्रशासन इस आदेश को तत्काल प्रभाव से निलंबित नहीं करता है तो 20 अक्टूबर से से पूरे देश के सभी स्टेशन मास्टर ट्रेन संचालन को सुचारू रूप से चलाते हुए काला बिल्ला लगा कर विरोध प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद भी केंद्र सरकार के द्वारा आदेश रद्द नहीं किया जाता है तो 31 अक्टूबर को कटिहार डिविजन के साथ साथ पूरे देश में सभी ऑन ड्यूटी एंड ऑफ ड्यूटी स्टेशन मास्टर अपने अपने स्टेशन में बिना काम को रोके हुए भूख हड़ताल करेंगे। इस अवसर पर मुख्य रूप से कटिहार डिविजन के मंडल सचिव आकाशदीप, निखिलेश कुमार, तिलक यादव, फिरोज, संतोष झा, संदीप कुमार, डीके सिंह, परवीन कुमार, राकेश कुमार, जितेंद्र जायसवाल, अविनाश ठाकुर, लखी कुमारी, रतिश झा, बीडी मेहता, अर्जुन भगत , मुकेश शावर्णी, संजीत ठाकुर,अजित झा आदि सभी स्टेशन मास्टर ने भाग लिया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें