जन संकल्प से हारेगा कोरोना:होम क्वॉरेंटाइन हुए आज 11 दिन हो गए, मजबूत विश्वास के साथ कोरोना को दिया मात

कटिहार6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संक्रमण का लक्षण सर्दी खांसी बुखार और बदन दर्द, इस दौरान अपने हौसले को बढ़ाकर रखें तो आसानी से हरा पाएंगे

मुझे होम क्वॉरेंटाइन हुए आज 11 दिन हो गए। बुधवार को मेरी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई। इस बीमारी में मरीज को आत्मबल होना बहुत जरूरी है। आत्म बल नहीं होने से रोगी निराश और हताश हो जाते हैं। उक्त बातें दुर्गा स्थान निवासी 48 वर्षीय व्याख्याता अभय मेहता ने कही। अभय मेहता 18 अप्रैल को पॉजिटिव हुए थे। ऑक्सीजन लेवल कम रहने पर घर पर ही 5 दिन ऑक्सीजन के सहारे रहे। अभय मेहता ने कहा कि वे 5 दिन गंभीर जरूर रहे लेकिन इसके बाद हर दिन कोरोना को शिकस्त देते गए और स्वस्थ हो गए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का लक्षण सर्दी खांसी बुखार और बदन दर्द आदि लक्षण पाया जाता है। इस दौरान अपने हौसले को बढ़ा कर रखना चाहिए।

कोरोना पॉजिटिव हो जाने के बाद घबराने अथवा डरने की जरूरत नहीं है। बल्कि इस दौरान मन को शांत रखें वह खुद पर या विश्वास जताएं की हम जल्द कोरोना से जंग जीत जाएंगे। यह बातें पिछले वर्ष सितंबर माह में कोरोना पॉजिटिव हुए रेलवे के चीफ कमर्शियल कंट्रोलर राजीव रंजन कुमार सिंह ने कहीं। उन्होंने भास्कर से अपना अनुभव शेयर किया और कहा कि कोरोना संक्रमण हो जाने के बाद घबराए नहीं।

अपने मन को शांत रखें। अपने आप में यह विश्वास जगाए की हम इससे बाहर निकल जाएंगे। अगर आप डर गए तो आप पर मनोवैज्ञानिक तरीके से या और हावी हो जाएगा। इसीलिए संक्रमण हो जाए तो बिल्कुल भी मन में डर या घबराहट नहीं रखना चाहिए। बल्कि मजबूती से से लड़ना चाहिए। चिकित्सक द्वारा दी गई दवाई लेते रहना चाहिए एवं गर्म पानी का भाप, गार्गल और नियमित व्यायाम से हम इसे हटा सकते हैं। कहा कि मैंने 14 दिन में कोरोना से जंग जीतकर 15 दिन काम पर लौट गया था।ॉ

बड़ा बाजार निवासी 28 वर्षीय किशन शर्मा की तबीयत खराब हो गई। वह डॉक्टर की सलाह पर कोरोना का टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आया। किशन शर्मा ने बताया कि उन्होंने डॉक्टर से उचित परामर्श लेकर घर में अपने आपको क्वॉरेंटाइन कर लिया। टाइम पर दवा ली।

फिर काढ़ा और सुबह शाम भाप और गर्गल करते रहे। इस दौरान नींद भी पूरा लिया। अभी स्वस्थ हैं। मेरी रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है। उन्होंने अपील की है कि जब आप आइसोलेशन में हो तो भ्रामक न्यूज़ से दूर रहें ताकि मन में नकारात्मक विचार ना सके।

खबरें और भी हैं...