पंचायत चुनाव:आज आपकी बारी; गांवों में आदर्श सरकार चुनें

कटिहार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरिशंकर नायक उच्च विद्यालय के प्रांगण में पोलिंग पार्टी को संबोधित करते डीएम, एसपी व अन्य। - Dainik Bhaskar
हरिशंकर नायक उच्च विद्यालय के प्रांगण में पोलिंग पार्टी को संबोधित करते डीएम, एसपी व अन्य।
  • 4 प्रखंड में 297 मतदान केंद्रों पर 79952 महिला और 80564 पुरुष मतदाता करेंगे वोटिंग

आइए गांवों में आदर्श सरकार चुनें। जाति, धर्म और लोभ से ऊपर उठकर योग्य प्रत्याशियों को वोटिंग करें। क्योंकि आपका वोट बहुमूल्य है। आपके वोटों से ही गांवों की तस्वीर बदलेगी। सुबह सात बजे से वोटिंग शुरू होगी। जो शाम पांच बजे तक चलेगी। चार पदों के मुखिया, जिला परिषद, पंचायत समिति व वार्ड सदस्य के लिए इवीएम से वोटिंग होगी। जबकि पंच और सरपंच का मतदान बैलेट पेपर के जरिए होगा। चारों प्रखंड में 80564 पुरुष और 79952 महिला व सात अन्य कुल 160523 मतदाता वोटिंग करेंगे। 297 मतदान केंद्र एवं 201 मतदान केंद्र भवनों पर 39 पुलिस पदाधिकारी एवं 147 सशस्त्र बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। 157 पुलिस पदाधिकारी एवं 471 सशस्त्र बलों की प्रतिनियुक्ति पीसीसीपी के साथ की गई है। वहीं सेक्टर पदाधिकारी के साथ 47 पुलिस पदाधिकारी व 141 सशस्त्र बल, ईवीएम क्लस्टर पर 27 पुलिस पदाधिकारी एवं 61 सशस्त्र बल के अलावा चारों प्रखंड में 5 जोनल पदाधिकारी के साथ 5 पुलिस पदाधिकारी और 15 सशस्त्र बल की प्रतिनियुक्ति की गई है।

मुखिया के 181 प्रत्याशी
चारों प्रखंड के 297 बूथों पर अलग-अलग पद के लिए 2302 उम्मीदवार मैदान में हैं। जिनमें मुखिया के 181, पंचायत समिति के 176, जिला परिषद के 34, सरपंच के 121 पंच के 478 और वार्ड सदस्य के 1312 प्रत्याशी ताल ठोक रहे हैं। जिनके भाग्य का फैसला वोटर आज करेंगे।

12 आदर्श मतदान केंद्र बने
आज होने वाले दूसरे चरण के पंचायत चुनाव में जिले के चार प्रखंड कुर्सेला, हसनगंज, डंडखोरा और कटिहार प्रखंड में कुल 297 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें चारों प्रखंड में 3-3 कुल 12 आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें कटिहार में 594, कुर्सेला में 390, डंडखोरा में 552 और हसनगंज में 432 मतदान कर्मी है।

बायोमेट्रिक से वोटर का मिलान
फर्जी वोटों को रोकने के लिए बायोमैट्रिक्स डिवाइस भी मतदान केंद्र पर लगाया जाएगा। जिससे वोटरों की पहचान हाेंगी। एक बार से ज्यादा वोटर मतदान नहीं कर पाएंगे। दूसरी बार मतदान करने जैसे ही जाएंगे बायोमैट्रिक्स डिवाइस बता देगा कि ये वोटर पहले ही इस नाम से वोट डाल चुका है। कोई वोटर ऐसा करते पकड़ा गया तो बूथ से ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इस प्रयोग से पंचायतों में बूथों पर फर्जीवाड़ा की शिकायत नहीं आएगी।

प्रत्याशी बना सकते हैं पोलिंग एजेंट
जिला निर्वाचन के अधिकारियों के अनुसार पंचायत चुनाव के प्रत्याशी अपना-अपना पोलिंग एजेंट बना सकते हैं। इसके लिए निर्वाचन के नियमों का पालन करना होगा, लेकिन हंगामा या झगड़ा करने पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। क्योंकि बूथों पर गड़बड़ी रोकने के लिए ईवीएम के साथ-साथ बायोमेट्रिक भी लगाया गया है। शांतिपूर्ण तरीके से मतदान में सिर्फ पोलिंग एजेंट सहयोग करेंगे।

वोट करने के लिए यह है विकल्प
वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, शस्त्र लाइसेंस, फोटोयुक्त बैंक पासबुक, सरकारी संस्थान द्वारा निर्गत परिचय पत्र, कॉलेज से निर्गत फोटोयुक्त परिचय पत्र आदि।

निष्पक्ष तरीके से जिम्मेदारी निभाएं
हरी शंकर नायक विद्यालय के प्रांगण में डीएम उदयन मिश्रा ने पोलिंग पार्टी को संबोधित करते हुए कहा कि जिन्हें जो जिम्मेदारी दी गई उसे निष्पक्ष तरीके से निर्वहन करेंगे।

खबरें और भी हैं...