स्वास्थ्य विभाग का कारनामा:एंटीजन किट से सैंपल लेने के 56 दिन बाद सैंपलिंग का डेट बता निगेटिव होने का भेज रहा मैसेज

गौतम | खगड़िया6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लापरवाही 3 मार्च को दिया था सैंपल, रिपोर्ट निगेटिव, 28 अप्रैल को भेजे गए मैसेज में 26 को बताया सैंपलिंग

कोरोना महामारी की भयावहता के बीच स्वास्थ्य विभाग असमंजस में डाल रहा है। मामला कोविड जांच और उसके रिपोर्ट से जुड़े होने के कारण यह मामला और भी गंभीर है। जिस व्यक्ति ने कोविड जांच के लिए सैंपल दिया ही नहीं, उनके नाम पर भी सैंपलिंग आईडी रजिस्टर्ड कर 26 अप्रैल की तारीख में सैंपल लेने और जांच रिपोर्ट निगेटिव होने का मैसेज भेजा जा रहा है। मामला खगड़िया के गोगरी अनुमंडल मुख्यालय स्थित रेफरल अस्पताल से जुड़ा है। गोगरी प्रखंड के शिशवा गांव निवासी शंभू यादव के पुत्र सुदर्शन कुमार ने दैनिक भास्कर को बताया कि 26 अप्रैल को मैंने जांच के लिए सैंपल दिया ही नहीं, फिर भी 28 अप्रैल को मुझे मैसेज कर 26 अप्रैल को सैंपलिंग करने तथा रिपोर्ट निगेटिव आने की जानकारी दी जा रही है। जिससे मैं असमंजस में हूं। वहीं मामले में अस्पताल प्रबंधन ऐसा नहीं होने की बात कह रहे हैं। मामले में अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ चंद्रप्रकाश ने कहा कि ऐसा तो नहीं हो सकता है। हो सकता है किसी टेक्निकल प्राब्लम के कारण ऐसा हुआ हो।

3 मार्च को दिया था अस्पताल में सैंपल
बिना जांच करवाए रिपोर्ट आने के मामले में सुदर्शन कुमार ने बताया कि मैंने 3 मार्च 2021 को अस्पताल में जांच करवाया था। तब रिपोर्ट निगेटिव आई थी, अस्पताल के द्वारा निर्गत उस तारीख की पर्ची और रिपोर्ट मेरे पास है। मगर मैंने दोबारा जांच नहीं करवाया है।

खबरें और भी हैं...