परेशानी:बिजली की कटौती से उपभोक्ता हो रहे हैं परेशान

खगड़िया16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीएसएस खगड़िया। - Dainik Bhaskar
पीएसएस खगड़िया।
  • समस्या से परेशान लोगों ने घुतौली पीएसएस के कर्मियों से की गाली-गलौज व पीएसस में की तोड़ फोड़
  • जेई ने 50-60 अज्ञात के विरूद्ध दिया है आवेदन, जांच के बाद होगी कार्रवाई

इन दिनों शहर से लेकर गांव तक हर क्षेत्र में बिजली के आंख-मिचौली की समस्या से उपभोक्ता परेशान हैं। शहर के विभिन्न हिस्सों के उपभोक्ताओं को बीते 8 दिनों से लगातार किस्तों में बिजली आपूर्ति की जा रही है। सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे के बीच 8 से 10 बार आपूर्ति बंद होने की समस्या से जूझना पड़ रहा है। बिजली पर आधारित उपकरणों संबंधी कार्य बाधित हो रहे हैं। गुरुवार को भी लगातार 1 घंटे तक 3 बार आपूर्ति बंद हुई, जिससे लोग परेशान हो गए हैं। एक तरफ विभाग दुर्गा पूजा को लेकर लगातार बिजली आपूर्ति किए जाने के वायदे कर रहे हैं दूसरी तरफ बिजली की कटौती से परेशान होकर लोग अब हंगामा करने पर उतारू हो गए। विभाग की माने तो अभी खगड़िया जिले में 25 मेगावाट पावर एलॉटेड किया गया। जिसमें 1.8 मेगावाट बछौता पीएसएस को दिया जा रहा है। जिसके माध्यम से अलौली और हरिपुर पीएसएस विद्युत आपूर्ति की जा रही है। वहीं 2.5 मेगावाट मानसी पीएसएस एवं धुतौली पीएसएस को, 3.4 मेगावाट महेशखूंट पीएसएस को दिया जा रहा है। इधर 8 मेगावाट खगड़िय टाउन पीएसएस को तथा 10 मेगावाट शिरनियां एवं करना पीएसएस को विद्युत आपूर्ति की जा रही है। बावजूद कहीं अपूर्ति में समस्या आ रही है तो वह फाल्ट के कारण हो रही है।

धुतौली पीएसएस में आक्रोशित लोगों ने कर्मियों के साथ की मारपीट और तोड़-फोड़, जेई ने मामला दर्ज कराया
बुधवार की रात बिजली की आंख मिचौली से तंग आकर आक्रोशित लोगों ने घुतौली पीएसएस में कार्यरत कर्मियों के साथ मारपीट एवं पीएसएस के वायरिंग की तोड़ फोड़ करने की घटना को अंजाम दिया। मामले में मानसी जेई अजय कुमार ने थाना में लिखित आवेदन देकर 50 - 60 अज्ञात लोगों के विरूद्ध ड्यूटी पर तैनात कर्मियों के साथ लाठी डंडे से मारपीट करने, जान से मारने की धमकी देने एवं पीएसएस परिसर में रखे कुर्सी टेबुल व पैनल के भीतर का वायरिंग तोड़ने व सरकारी संपति को नुकसान पहुंचाने तथा कर्मियों के मोबाइल तोड़ने का आरोप लगाते आवेदन देकर कानूनी कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। थानाध्यक्ष मुरारी कुमार ने बताया कि प्राप्त आवेदन के आलोक में जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

कोयले की कमी से बिजली का संकट उत्पन्न : डीएम
डीएम डॉ आलोक रंजन घोष ने बताया कि पूरे देश में कोयले की कमी के कारण बिजली संकट उत्पन्न हो गई है। इस वजह से हर जगह परेशानी हो रही है। खगड़िया भी अभी उसी दौड़ से गुजर रहा है। उन्होंने बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता को निर्देश देते हुए कहा कि प्रत्येक जगह पर रोटेशन पर दी जाने वाली बिजली की जानकारी आम लागों तक पहुंचाने की काेशिश की जाए। ताकि आम लोग समय से अपने जरूरी कार्य निपटा सकें।

खबरें और भी हैं...