खगड़िया में 7 दिनों तक घूमता रहा कोरोना पॉजिटिव युवक:मुंगेर में पाया गया था पॉजिटिव, चुपके से पहुंचा घर; पूरे मोहल्ले को बनाया गया कंटेंटमेंट जोन

मुंगेर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड जांच करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
कोविड जांच करते स्वास्थ्यकर्मी।

मुंगेर में खगड़िया का एक मजदूर 7 दिन पहले कोरोना संक्रमित पाया गया था। जो चुपके से अपने गांव भदास आ पहुंचा। जिसकी सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम हरकत में आ गई। अब उसके संपर्क में आने वाले करीब 60 अधिक लोगों की जांच की जा रही है। जिला प्रशासन ने एहतियातन कोरोना संक्रमित के घर के आस पास के एरिया को कंटेंटमेंट जोन बना दिया है। जहां आवाजाही पर पूर्णतः रोक लगा दिया गया है।

स्वास्थ्य विभाग की माने तो उक्त संक्रमित मजदूर खगड़िया से किसी दूसरे राज्य में काम के लिए जाने की फिराक में था। उसके रेलवे स्टेशन पर पहुंचने पर उसे पकड़कर आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कराया गया है। इधर सदर अस्पताल खगड़िया के स्वास्थ्य प्रबंधक शशि कुमार एक बार फिर कोरोना संक्रमित हो गए हैं। जिसकी सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

मुंगेर से खगड़िया पहुंच घूमता रहा संक्रमित
बताया जा रहा है कि भदास गांव के जिस मजदूर की कोरोना रिपोर्ट मुंगेर में पॉजिटिव मिला था। वह कई दिनों से अपने गांव में था। सदर अस्पताल के अधिकारियों की माने तो मुंगेर में उसका सैंपल जांच के लिए लिया गया था। 29 दिसंबर को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद उसने अपना मोबाइल बंद कर लिया। जिसके बाद उसे उसके गांव में तलाश किया गया। संक्रमित व्यक्ति इस दौरान अपने गांव के कई लोगों से भी मिलता रहा। इसके बाद 7 दिन बाद उसे मंगलवार को पकड़कर आइसोलेशन में रखा गया।

पटना से लौटे स्वास्थ्य प्रबंधक मिले पॉजिटिव
पटना से खगड़िया लौटे सदर अस्पताल स्वास्थ्य प्रबंधक भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिसके बाद अस्पताल में कई कर्मियों की कोविड जांच की गई है। इस संबंध में सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ योगेंद्र सिंह प्रयासी ने बताया कि स्वास्थ्य प्रबंधक को आइसोलेट किया गया है। जो भी संपर्क में आये थे उनकी जांच की जा रही है।

खगड़िया में 4 एक्टिव केस
बता दें कि अभीतक खगड़िया में कुल 4 पॉजिटिव केस मिले हैं। जिनमें गोगरी के 2 दंपति भी शामिल हैं। इस संबंध में उपाधीक्षक सदर अस्पताल ने बताया कि जो भो संक्रमित पाए जा रहे हैं उनके संपर्क में आने वालों की पहचान कर जांच की जा रही है।