पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

माैसम में बदलाव:बूंदाबांदी और पछुआ हवा से बढ़ी ठंड, न्यूनतम पारा 3 डिग्री लुढ़का

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार को बूंदाबांदी बारिश के बीच खाली सड़क। - Dainik Bhaskar
शनिवार को बूंदाबांदी बारिश के बीच खाली सड़क।
  • आज भी मौसम रहेगा खराब, बारिश से फसलों को होगा फायदा
  • कृषि वैज्ञानिक ने फसलों को नुकसान से बचाने के लिए किसानों को दिए सुझाव

बीते तीन चार दिनों से सुबह से ही धूप खिलने से जिलेवासियों को ठंड से काफी हद तक राहत मिल रही थी। मगर शनिवार की सुबह से ही मौसम का मिजाज बदला-बदला सा रहा। तेज पछुआ हवा के साथ सुबह 9 बजे से ही बूंदाबांदी बारिश शुरू हुई, जिससे एकबार फिर से ठंड का प्रभाव बढ़ गया। जबकि आसमान में बादल छाए रहने और रुक- रुक कर दिनभर बुंदाबुंदी बारिश होने के कारण भगवान भास्कर का दर्शन नहीं हुआ। वहीं मौसम में आए बदलाव के कारण दिन के अधिकतम तापमान में 5 डिग्री और न्यूनतम तापमान में 3 डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई। शनिवार को दिन का अधिकतम तापमान 20 डिग्री तथा न्यूनतम 10 डिग्री दर्ज की गई। जिससे ठंड का प्रभाव बढ़ा रहा। बताते चलें कि बूंदाबूंदी बारिश से इंटरमीडिएट परीक्षार्थियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इधर कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों ने रविवार को भी मौसम खराब रहने तथा बादलों की गर्जना के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। इसके साथ कृषि वैज्ञानिक ने इस बारिश से रबी फसल को फायदा पहुंचने की बात कही है। इसके साथ इस मौसम में फसलों को होने वाले नुकसान से बचाने का सुझाव भी दिया है। केविके के प्रधान वैज्ञानिक डॉ अनीता कुमारी ने कहा है कि इस सप्ताह एक दो दिनों तक हल्की बारिश की संभवना है। इसलिए किसानों को सलाह दी जाती है कि इस दौरान अपने फसलों में कोई कीटनाशक, खाद और खरपतवारनाशी दवा का छिड़काव नहीं करें।

दलहन फसल में प्रोफेनोफॉस और उद्यानिक फसलों में करें मेन्कोजेब और रिडोमिल गोल्ड के घोल का छिड़काव
केविके के वैज्ञानिकों ने इस मौसम में दलहन फसलों में से अरहर, चना और मसूर के दानों में फलिछेद से बचाने के लिए प्रोफेनोफेस को घोल और एनपीपी के 250 एमएल को प्रति हेक्टेयर में उपयोग करने की सलाह दी है। वहीं उद्यानिक फसलों को झुलसा रोग से बचाने के लिए मेन्कोजेब, रिडोमिल गोल्ड और एनपीके का छिड़काव की सलाह दी है।

सुबह से ही आसमान में छाया रहा बादल
शनिवार अहले सुबह से ही तेज पछिया हवा चलने से ठंड का प्रभाव बढ़ा रहा। वहीं आसमान में बादल छाए रहने से धूप नहीं निकला। बताते चलें कि काफी दिनों तक भीषण ठंड का प्रभाव झेलने के बाद लोगों की जिंदगी पटरी पर लौटी थी। मगर अचानक मौसम खराब होने से एक बार फिर से लोग ठंड का असर बढ़ने की संभावना व्यक्त कर रहे हैं। हालांकि मौसम वैज्ञानिकों ने दो दिन बाद फिर से मौसम बिल्कुल साफ होने की बात कही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें