बेखौफ खनन माफिया:नदियों का जलस्तर कम होते ही शुरू हो गया अवैध खनन

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अवैध खनन पर रोक को अभियान चलाना जरूरी

नदियों के जलस्तर में कमी होने के साथ ही खनन माफिया फिर से सक्रिय हो गए हैं। जो एनएच- 31, एसएच 95 सहित अन्य प्रमुख सड़काें से होकर ट्रैक्टर के माध्यम से प्रतिदिन धड़ल्ले से खनन करते हुए मिट्टी व बालू को ले जाते देखे जा सकते हैं। ज्ञात हो कि पिछले वर्ष अवैध खनन के विरूद्ध अभियान चलाकर अधिकारियों ने दर्जनों वाहनों को जब्त कर जुर्माना वसूली किया था। जिससे बाद खनन पर रोक लगी थी। इधर नदियों का जलस्तर कम होते ही पुनः खनन माफिया सक्रिय हो गए हैं। बताते चलें कि ये खनन माफिया नदी किनारे गड्ढा खोदकर 500 से 700 रुपए प्रति टेलर मिट्टी और बालू बिक्री कर रहे हैं। जिसकी खरीदारी घर निर्माण कराने वाले से लेकर चिमनी भट्ठा संचालक व अन्य अपने सुविधा अनुसार कर रहे हैं। अगर ऐसा चलता रहा तो नदी किनारे की जमीन को खनन माफिया गड्ढा खोदकर नदी में मिला देंगे। इस पर रोक लगाने के लिए विभाग द्वारा पुनः अभियान चलाना जरूरी है।

खबरें और भी हैं...