परेशानी:20 वर्ष में 4 ने संभाला चकहुसैनी पंचायत का पदभार व नपं बनने के बाद भी सफाई को तरसता है पंचायत

खगड़िया12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगर पंचायत में शामिल होने से इस बार पंचायत में नहीं होंगे चुनाव, जस का तस पड़ी है लोगाें की समस्याएं

जिले के मानसी प्रखंड के चकहुसैनी पंचायत में बीते 20 वर्षों में 4 अलग-अलग परिवार के लोगों मुखिया का पदभार संभाला। पंचायत चुनाव 2001 में यहां की जनता ने गणेश गुप्ता को पंचायत के मुखिया के रूप में चुना और उसके बाद 2006 में टुनटुन सिंह और 2011 में रौशन कुमार साह और 2016 में दीपक कुमार विद्यार्थी को पंचायत का सरकार चलाने का मौका मिला। ग्रामीणों की मानें तो इस बीस वर्ष के कार्यकाल में वर्ष 2001 से 2011 के बीच पंचायत में विकास कार्य देखने को मिला। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत में इस बीच पंचायत में शौचालय निर्माण, आवास योजना, पेंशन, राशन सहित अन्य सुविधाओं के लिए लोगों को परेशान नहीं होना पड़ा था। वही 2011 से 2016 के बीच योजनाओं में गरबरी शुरू हुई एवं लोगों विभिन्न सुविधाओं के लिए लोगों को प्रतिनिधि और संबंधित कर्मचारियों को नजराना देकर खुश करना पड़ता था, तभी लाभुकों को योजनाओं की लाभ मिल पाता था। जबकि 2016 के 2021 के बीच पंचायत में जनप्रतिनिधि और विभागीय अधिकारी की मिलीभगत से जबरदस्त कमीशन का खेल खेला गया। पंचायत में दोयम दर्जे का निर्माण कार्य कराया गया। शिकायत पर तत्कालिन बीडीओ ने महिनों निर्माण कार्य पर रोक भी लगा दिया। नतीजा रहा कि पिछले दस वर्षों से पंचायत की समस्या जस का तस बनी है। ऐसा इस पंचायत के लोग बता रहे हैं। योजना की राशि रिश्वतखोरी (पीसी) का भेंट चढ़कर घटिया निर्माण की समस्या पैदा कर दिया है और इसका खामियाजा चकहुसैनी के लोगों को भुगतना पड़ रहा है। यहां अब तक लोगो से राशन, पेंशन, आवास योजना, शौचालय प्रोत्साहन दिलवाने के नाम पर प्रतिनिधि एवं कर्मियों द्वारा लाभुकों से उगाही किए जाने की चर्चा गरम है। इस बार इस पंचायत को भी नगर पंचायत में शामिल कर लिया गया है। इसलिए यहां पंचायत चुनाव नही होने जा रहा है। इस पंचायत के प्रतिनिधि अब नगर पंचायत का चुनाव लड़ने की तैयारी में जुट गए हैं।

पंचायत - चकहुसैनी
कुल जनसंख्या - 14000
पंचायत समिति सदस्य की संख्या - 2
कुल मतदाता - 9600 कुल वार्ड- 17
कुल गांव - 1

व्यवसाय पर ही आश्रित हैं अधिकांश पंचायत के लोग
इस पंचायत के अधिकांश लोग व्यवसाय पर निर्भर है। जिसमें से अधिकांश लोगों के दुकान स्थानीय मानसी बाजार में ही स्थित है। पंचायत में एक उच्च विद्यालय, तीन मध्य विद्यालय और दो प्राथमिक विद्यालय है। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा चकहुसैनी में एक अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र संचालित किया जा रहा है। इस पंचायत के अंतर्गत मात्र चकहुसैनी गांव आता है। पूरा मानसी बाजार चकहुसैनी में ही स्थित है।

अंतिम 4 चुनाव में मात्र 4 लोगों ने संभाला पंचायत का सरकार
इस पंचायत में अब तक हुए चुनावों में वर्ष 2001 में मुखिया पद पर गणेश गुप्ता, 2006 में टुनटुन सिंह, 2011 में रौशन कुमार साह और 2016 में दीपक कुमार विद्यार्थी यहां के मुखिया निर्वाचित किए गए। पिछले दस वर्षों से विकास के क्षेत्र में चकहुसैनी की सूरत नहीं बदल पाई। इस पंचायत क्षेत्र में बाजार रहने व युवा व्यवासियों के संगठन द्वारा स्व विजय कुमार सिंह के नेतृत्व लगातार दस वर्षों तक भव्य गणेश पूजा का आयोजन किया गया। यहां के गणेश महोत्सव की चर्चाएं लोगों के जुबान पर रहती है।

मतदान कर्मियों काे चुनाव संबंधित सामग्री किया वितरित

महेशखूंट | पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के चुनाव को लेकर स्थानीय जवाहर विद्यालय महेशखूंट में गुरुवार को मतदान कर्मियों के बीच मतदान से संबंधित सामग्री का वितरण किया गया। गोगरी प्रखंड के जिला परिषद क्षेत्र संख्या 15 के अंतर्गत सात पंचायत रामपुर, शेर चकला, बासुदेवपुर, पसराहा, देवठा, इटहरी, पैकांत पंचायत में आज शुक्रवार को मतदान कराया जाएगा। मतदान से संबंधित सामग्री वितरण के समय डीएम डॉ आलोक रंजन घोष, एसपी अमितेश कुमार, डीडीसी अभिलाषा शर्मा ने उपस्थित मतदान कर्मी को संबोधित करते हुए आम चुनाव को निष्पक्ष भयमुक्त वातावरण में संपन्न कराने को लेकर कई हिदायतें दी। वहीं मतदान केंद्रों के सफल संचालन को लेकर भी मतदान कर्मियों को कई आवश्यक निर्देश दिए गए। गोगरी के निर्वाची पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि तीसरे चरण में सरपंच पद के लिए 44, मुखिया पद के लिए 57, पंचायत समिति सदस्य पद के लिए 54, वार्ड सदस्य पद के लिए 440 के अलावा पंच पद के लिए 157 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

खबरें और भी हैं...