निर्देश:ऑक्सीजन आपूर्ति वाले कोविड वार्ड में आमलोगों के प्रवेश पर रोक लगाएं पदाधिकारी: जिलाधिकारी

खगड़िया11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीएम ने सदर अस्पताल में कोरोना संक्रमण के तीसरे चरण से निपटने की तैयारियों का लिया जायजा

डीएम आलोक रंजन घोष ने सदर अस्पताल, खगड़िया का निरीक्षण किया और विशेष रूप से कोविड-19 संक्रमण के तीसरे लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जा रहे तैयारियों की विशेष रूप से समीक्षा की एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए। डीएम ने सर्वप्रथम सदर अस्पताल में नवनिर्मित 1000 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले पीएसए ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट का निरीक्षण किया। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित यह प्लांट पीएम केयर्स द्वारा वित्त पोषित है। जिलाधिकारी की उपस्थिति में प्लांट को चालू किया गया और जिलाधिकारी को इसके घटक मशीनों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। सदर अस्पताल में बेडों पर ऑक्सीजन की पाइपलाइन से आपूर्ति प्रारंभ किया जा रहा है। डीएम ने ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट से ऑक्सीजन सिलेंडर में ऑक्सीजन भरने की प्रक्रिया की भी जानकारी ली।

आरटी-पीसीआर लैब का निरीक्षण किया

डीएम ने अस्पताल के महिला, पुरुष एवं बच्चा वार्ड में बेडों पर ऑक्सीजन पाइप लाइन के जरिए ऑक्सीजन की आपूर्ति को भी देखा। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति वाले कोविड-19 वार्ड में लोगों के आवागमन पर प्रतिबंध होना चाहिए। डीएम ने सदर अस्पताल में कोविड टेस्टिंग के िलए खुले आरटी-पीसीआर लैब का निरीक्षण किया। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने जिला स्वास्थ्य समिति खगड़िया स्थित कोविड-19 कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया और कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों से खुद फोन से बातचीत की और उनका हालचाल लिया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ. अमरनाथ झा, केयर इंडिया के डीटीएल श्री अभिनंदन आनंद, डॉक्टर देवनंदन पासवान, उपाधीक्षक, सदर अस्पताल डॉ. वाईएस प्रयासी, डीपीएम श्री पवन कुमार, डॉ. शशि इत्यादि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...