कोरोना इंपैक्ट:ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, विटामिन सी और जिंक टेबलेट स्टोर में खत्म

खगड़िया6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आधे से अधिक खरीदार को नहीं मिल पा रही है डाॅक्टर की लिखी दवा, इम्युनिटी बरकरार रखने वाली दवाएं हैं विटामिन सी व जिंक टेबलेट

कोरोना संक्रमितों के इलाज में कारगर दवाओं का जिले में किल्लत गहराती जा रही है। जीवन रक्षक दवा विटामिन सी, प्लस ऑक्सीमीटर, एजिथ्रोमाइसीन, सहित खांसी सर्दी व बुखार के दवाओं की शाॅर्टेज हो चुकी है। बुधवार को भास्कर की टीम ने जिले के कई मेडिकल स्टोर पर जाकर पड़ताल किया तो देखा कि एक दुकान पर दवा लेने वालों को पूरी दवा उपलब्ध नहीं हो पा रही है।

जबकि लोग मामूली सर्दी, खांसी और बुखार की दवा ही खा रहे हैं। इसके अलावा ऑक्सीजन की समस्या झेल रहे मरीजों के लिए आवश्यक ऑक्सीजन कंसंट्रेशन व ऑक्सिफ्लाे मीटर थर्मामीटर मेडिकल दुकानों से गायब हो चुका है। जिले के मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े मेडिकल केमिस्टों का कहना है कि जिले में पहले ये सब दवाओं की डिमांड नहीं थी। जिले के लिए सप्लायर के यहां से ही दवाओं का किल्लत है।

उपरोक्त दवाएं समय से नहीं आ रही है। जिले के मेडिकल स्टोरों पर रोजाना दवाओं की डिमांड पूर्ति नहीं होने से भी जिले के अन्य इलाकों में इन जीवन रक्षक दवाओं की पूर्ति नहीं हो पा रही है। दवा विक्रेताओं की माने तो जिले में ऑक्सीजन कंसंट्रेशन व आक्सीजन फ्लो मीटर की डिमांड न के बराबर थी। परंतु पिछले 15 दिनों से जब ऑक्सीजन की कमी का मामला सामने आया तब इन दोनों उपकरणों के मांग में तेजी आई है। मेडिकल दुकानदारों के मुताबिक पहले डिमांड नहीं होने के कारण जिले के होलसेलर्स व फुटकर केमिस्ट दोनों इन उपकरणों को नहीं रखते थे।

अचानक बढ़ी है डिमांड, इसलिए शाॅर्टेज है दवा
अचानक डिमांड बढ़ी है। इसलिए कुछ दवाइयों का शार्टेज हो रही है। वैसे लगभग दवाइयां उपलब्ध है। ड्रग्स इंस्पेक्टर ने बताया कि शार्टेज दवाइयां की जानकारी इकट्ठा की जा रही है कि कितनी मात्रा में कौन सी दवा उपलब्ध है। दवाओं के स्टोर करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
डाॅ. सचीदानंद, ड्रग्स इंस्पेक्टर खगड़िया

ऑक्सीजन की माप के लिए ऑक्सीमीटर जरूरी, पर कहीं नहीं मिल रहा: रौशन
बलहा निवासी रौशन कुमार ने बताया कि मेरे यहां ऑक्सीजन की कोई किल्लत नहीं है। परंतु परिवार के लोगों को ऑक्सीजन की माप के लिए ऑक्सीमीटर जरूरी है। क्योंकि ऑक्सीजन लेबल के आधार पर ही अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। घर में बुजुर्ग सदस्य की स्वास्थ्य की जानकारी के लिए ऑक्सीमीटर खरीदना है परंतु जिले में कहीं मिल नहीं रहा है।

खबरें और भी हैं...