हादसा:कुशेश्वर रेल परियोजना ठेकेदारी के मुंशी की संदेहास्पद मौत

खगड़िया12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बुधवार की रात अलौली थाना क्षेत्र के संझौती गांव में उदय किशोर यादव के मकान में किराए पर रह रहे बड़ी कुटिया निवासी चंद्र भूषण प्रसाद यादव के 32 वर्षीय पुत्र बबलू कुमार यादव की संदेहास्पद मौत हो गई। घटना की खबर तब चली जब गुरुवार सुबह देर तक बबलू नहीं जगे। बबलू को आवाज देते हुए स्थानीय लोगों ने जाकर देखा तो बबलू अपने बिस्तर पर मृत पड़ा हुआ था। लोगों ने घटना की जानकारी मृतक के परिजन को दिया। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची अलौली पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए खगड़िया सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक के भाई डब्लू यादव ने बताया कि बबलू का किसी से लड़ाई झगड़ा भी नहीं था और कोई पारिवारिक कलह ही नहीं था। मृतक के भाई डब्लू यादव ने बताया कि बबलू खगड़िया कुशेश्वर रेल निर्माण कार्य के ठेकेदार आलाेक उर्फ मिथलेश यादव के मुंशी के रूप में कार्यरत था। इन दिनों निर्माण कार्य बंद पड़ा है। लेकिन बबलू पर सामानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी थी। वह संझौती में ही किराए पर डेरा लेकर रह रहे थे। बबलू के मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

भाई ने कहा- अकेले ही कमरे में रहता था बबलू
मृतक के भाई ने बताया कि घटना की सूचना पर जब भाभी को पूछे तो कि उनके कोई बात भी हुई थी क्या? तो भाभी ने बताया रात में बात हुई वे मैच देख रहे थे और बोले थोड़ी देर बाद खाना खाकर सोएंगे। मृतक के परिजनों को स्थानीय लोगों ने बताया कि बबलू अकेले ही रहता था।

पत्नी के सहारे छोड़ गए 8 माह की बच्ची को
मृतक के भाई डब्लू ने बताया 2019 में बबलू यादव की शादी मानसीके ठाठा गांव में हुई थी। इन दिनों मृतक की पत्नी ने मैइके में ही रह रही है। बबलू पत्नी के सहारे 8 वर्षीय बच्ची को छोड़ गया है।

खबरें और भी हैं...